ग्लोबल टैलेंट कम्पिटिशन में पिछड़कर 92वें स्थान पर पहुंचा भारत

दावोस। भारत वैविक प्रतिभा प्रतिस्पर्धा सूचकांक में 3 स्थान पिछड़कर 92वें स्थान पर आ गया है। यह इस बात का संकेतक है कि किस तरीके से देश प्रतिभाओं का विकास करते हैं, उन्हें आकर्षित करते हैं और प्रतिभाओं को रोक पाने में सफल रहते हैं। इस सूची में स्विट्जरलैंड टॉप पर है।

ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) में भारत का स्थिति सबसे खराब है। चीन का सूची में 54वां तथा रूस का 56वां स्थान है। सूची में दक्षिण अफ्रीका 67वें तथा ब्राजील 81वें स्थान पर है।

स्विट्जरलैंड सूची में शीर्ष पर रहा है। उसके बाद सिंगापुर दूसरे तथा ब्रिटेन तीसरे स्थान पर है। यह सूची आज इनसीड ने जारी की। सूची को एडेको ग्रुप तथा सिंगापुर के ह्यूमन कैपिटल लीडरशिप इंस्टिट्यूट के साथ भागीदारी में तैयार किया गया है।

टॉप 10 में जो अन्य देश शामिल हैं उनमें अमेरिका चौथे, स्वीडन पांचवें, आस्ट्रेलिया छठे, लग्जमबर्ग सातवें, डेनमार्क आठवें, फिनलैंड नौवें तथा नॉर्वे दसवें स्थान पर है। पिछले साल भारत का इस सूची में 89वां स्थान था।

Leave a Reply