यह कुछ उपाय आपको बचा सकते हैं हैकर्स से

measure of hackers

जहां टेकनॉलिजी तरक्की के लिए कदम मिला कर तेज़ी से आगे बढ़ रही है, वहीं हैकर्स इन सबका तोड़ निकालने में जुटे हैं। आजकल आए दिन ऑनलाइन फ्रॉड और हैकिंग के कई किस्से सुनने व देखने को मिलते ही रहते हैं। कभी किसी की डेबिट या क्रेडिट कार्ड से शॉपिंग कर लेना या किसी की आई-डी पासवर्ड हैक करके फालतू मेल करना और ना जाने क्या-क्या। लेकिन इस हैकिंग के शिकार कहीं आप ना हो जाएं इसलिए आज हम बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे उपाय जिनके इस्तेमाल से आप अपना अकाउंट हैक होने से बचा सकते हैं।

इसमे कोई दोराय नहीं है कि सोशल मीडिया, ई-कॉमर्स वेबसाइट्स या फिर नेट बैंकिंग इन जैसे कामों के लिए आजकल हम इंटरनेट पर पूरी तरह निर्भर हो चुके हैं। ये सभी बैंक संबंधित कामों के लिए हम एक सेफ अकाउंट का इस्तामल करते हैं और इस अकाउंट को पूर्ण तरह से सुरक्षित रखने के लिए हम पासवर्ड का सहारा लेते हैं। ये सभी ही अकाउंट यूज़र्स का बेहद ज़रूरी डेटा स्टोर करके रखती है, इसलिए ये हमारे लिए ज़रूरी बन जाता है कि हम इसे बिल्कुल सेफ रखें ताकि हमारे साथ कोई धोखा ना हो सके। लेकिन हैकर्स इन सभी सुरक्षा कवचों को तोड़ कर अपना काम निकाल ही लेते हैं। तो आईये जानते हैं कि कैसे हम अपने अकाउंट्स को हैकर्स से सेफ रख सकते हैं।

एक अच्छा पासवर्ड चुनें:- कोई भी पासवर्ड सेट करने से पहले पासवर्ड टिप्स पर ज़रूर गौर करें। वैसे तो ज्यादा लंबा और पेचीदा पासवर्ड ही सही और सेफ माना जाता है क्योंकि हैकर्स को इसका अंदाज़ा लगाना थोड़ा मुश्किल होता है। अपने बीवी-बच्चों के नाम, जन्मदिन या अन्य किसी पर्सनल डिटेल्स के आधार पर पासवर्ड ना डालें। हैकर्स इसी के आधार पर आपका अकाउंट हैक करने की कोशिश करते हैं। ये ध्यान रखें कि आसान पासवर्ड बिल्कुल ना रखें जैसे 123456 जैसे पासवर्ड रखना खतरे से खाली नहीं। ऐसे पासवर्ड आसानी से हैक हो जाते हैं। हैकर्स ऐसे प्रोग्राम बनाते हैं जो अपने आप ऐसे पासवर्ड डालकर हैकिंग की कोशिश करते रहते हैं। स्ट्रांग पासवर्ड बनाने के लिए सबसे अच्छा तरीका है कि आप उसमें लैटर, नंबर, कैरेक्टर का इस्तेमाल करें जिससे हैकर को आपके अकाउंट हैक करने में दिक्कत हो।

पुराना पासवर्ड दोबारा सेट ना करें:- कई लोग ऐसी गलती अक्सर कर देते हैं कि एक ही जैसा पासवर्ड कई साइट्स पर यूज़ करते हैं। लेकिन ऐसा बिल्कुल भी ना करें। अपने पुराने पासवर्ड को दोबारा कहीं भी, किसी भी अकाउंट में इस्तेमाल ना करें। अगर हैकर्स के पास आपके किसी एक पासवर्ड की जानकारी आ गई तो बाकी के अकाउंट्स बड़ी आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं। आप डैशलेन या लास्टपास जैसे पासवर्ड मैनेजर इस्तेमाल कर सकते हैं। ये आपके पासवर्ड को याद रखती है। मगर इसके लिए ज़रूरी है इन पासवर्ड मैनेजर्स पर भरोसा रखना। एप्पल, सफारी और गूगल क्रोम में अपने खुद के इन-बिल्ट पासवर्ड मैनेजर होते हैं।

समय के साथ बदलते रहें अपना पासवर्ड- आपके द्वारा डाले गए किसी भी पासवर्ड को निरंतर बदलते रहना भी ज़रूरी है। जिस तरह से आप कुछ महीनों में अपना टूथब्रश और कुछ रोज़मर्रा की ज़रूरतों के सामान बदलते हैं ठीक वैसे ही अपने सभी अकाउंट्स का पासवर्ड भी बदलना ज़रूरी है। अगर किसी भी साइट्स पर एक लंबे वक्त तक आप एख ही पासवर्ड रखते हैं तो उसका गलत हाथों में जाने का खतरा रहता है। अगर आपके पास किसी भी बैंक या कंपनी से अपने पासवर्ड को बदलने को कहा जाए तब भी अपना पासवर्ड बदलने की गलती ना करें।

लॉग-इन करना मुश्किल करें:- ज्यादातर साइट्स पर लॉग-इन करते वक्त मल्टी-फैक्टर आइडेंटिफिकेशन में यूज़र्स को आइडेंटिफिकेशन के लिए कुछ ना कुछ ऐड करना होता है। जैसे कि फोन पर आने वाला वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी)। इससे होता ये है कि हैकर्स आपका पासवर्ड चुरा भी ले तो भी कुछ नहीं कर पाएंगे क्योंकि लॉग-इन करने के लिए उन्हें आपके फोन पर आया हुआ वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) डालना होगा, जो उनके पास मौजूद नहीं होगा। न्यू डिवाइस या लोकेशन्स से लॉग-इन करने पर ये डालना आप ज़रूरी कर सकते हैं। फेसबुक सहित कई साइट्स ये सुविधा अपने यूज़र्स के लिए उपलब्ध कराती हैं।

फालतु अकाउंट्स को करें डिलीट:- अपने उन पुराने अकाउंट्स को डिएक्टिवेट या फिर डिलीट कर दें जिन्हें आप इस्तेमाल नहीं करतें हैं। अगर कोई स्पैम से भरा ई-मेल अकाउंट है, जिन्हें आप इस्तेमाल नहीं करते उसे बंद कर दें। ताकि कोई भी हैकर आपको किसी भी तरह का नुकसान ना पहुंचा सके।

सोशल मीडिया को व्यवस्थित करें:- जब कभी भी सोशल मीडिया पर कोई पोस्ट डालें तो उन्हें अपने जानने वालों तक ही सीमित रखें। सेटिंग्स में जाकर आप फ्रेंड्स ओन्ली ऑप्शन चूज़ करके ऐसा कर सकते हैं। फेसबुक समय-समय पर नोटिफिकेशन्स देता है कि आप अपनी प्राइवेसी सेटिंग रिव्यू करें और जानें की कौन-कौन आपकी सभी इन्फॉरमेशन्स को देख सकता है। आपके किसी भी पर्सनल डीटेल्स पर नज़र रख कर हैकर्स आपके पासवर्ड का अंदाज़ा लगा सकता है, इसलिए पर्सनल इनफॉरमेशन की सेटिंग ऐसी कर दीजिए की आप या आपका दोस्त ही आपके अकाउंट से जुड़ी बातों को जान पाए। ऐसा करने से आप अपने अकाउंट को हैकर्स से पूरी तरह सुरक्षित रख सकते हैं।

– शैव्या शुक्ला

Leave a Reply