‘दिल के लिए घातक है कम नींद लेना’

बर्लिन। वैज्ञानिकों का कहना है कि बहुत कम नींद लेने से हृदय पर विपरित असर पड़ता है। वैज्ञानिकों ने पाया कि तनाव भरी वैसी नौकरियां, जिनमें 24 घंटे वाली शिफ्ट की जरूरत होती है और सोने के लिए बहुत ही कम समय मिलता है, उनसे रक्तचाप और दिल की गति बढ़ जाती है। वैसे लोग जो अग्निशमन और आपातकालीन चिकित्सा सेवा सहित अन्य तनाव भरी नौकरियों में कार्यरत होते हैं, उन्हें प्राय: 24 घंटे की शिफ्ट में काम करने के लिए बुलाया जाता है तथा उनके पास नींद पूरी करने के कम समय होता है।

जर्मनी के बॉन विश्वविद्यालय के डेनियल कुटिंग ने बताया, ‘पहली बार, हमने कम नींद लेने को 24 घंटे वाली शिफ्ट से जोड़कर दिखाया है, जिससे हृदय संकुचन, रक्तचार और हृदय गति में उल्लेखनीय वृद्धि हो सकती है।’ इस अध्ययन के लिए शोधार्थियों ने 20 स्वस्थ रेडियोलॉजिस्ट को शामिल किया, जिसमें 19 पुरष और एक महिला थी।

अध्ययन में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों के तनाव का विश्लेषण 24 घंटे की शिफ्ट से पहले और बाद में किया गया। ये प्रतिभागी इस दौरान औसतन तीन घंटे की नींद ले रहे थे। कुटिंग ने कहा, ‘इससे पहले हृदय की गतिविधि की जांच बहुत कम नींद लेने के संबंध में तनाव के विश्लेषण के साथ किया गया था। यह हृदय संकुचन जैसे मामलों के लिए सबसे संवदेनशील पैमाना है।’ अनुसंधानकर्ता ने प्रतिभागियों से खून और मूत्र के नमूने भी रक्तचाप और दिल की गति मापने के लिए थे।

Leave a Reply