मुलायम ने 2012 के चुनाव के अपने बेटे को यूपी पर क्यों थोपा: बीजेपी

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी में जारी घमासान और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पार्टी से निष्काषित किए जाने के बीच बीजेपी ने सपा प्रमुख मुलायम सिंह से सवाल किया कि उन्हें बताना चाहिए कि 2012 के चुनाव के बाद उन्होंने अपने बेटे को उत्तरप्रदेश पर क्यों थोपा और लोगों को धोखा क्यों दिया?

अखिलेश यादव को छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित किए जाने के तत्काल बाद बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव श्रीकांत शर्मा ने कहा कि अखिलेश सरकार पूरी तरह से विफल रही है और उसने लोगों से किए एक भी वादे पूरे नहीं किए। अब मुलायम सिंह यादव ने उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया है। लोग पहले ही उन्हें (अखिलेश) सरकार की विफलता के कारण निकाल चुके हैं। उन्होंने कहा कि अब मुलायम सिंह को बताना चाहिए कि उन्होंने अपने बेटे को राज्य पर क्यों थोपा और लोगों को धोखा क्यों दिया।

सपा में मचे घमासान को पहले से लिखी पटकथा पर आधारित ड्रामा करार देते हुए बीजेपी ने इसे अखिलेश यादव सरकार की सम्पूर्ण विफलता से लोगों का ध्यान बांटने की कोशिश करार दिया। श्रीकांत शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपनी सरकार की सम्पूर्ण विफलता से बचने के लिए उत्तरप्रदेश के लोगों के साथ धोखा किया है। उन्होंने कोई वादा पूरा नहीं किया। लोग ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। सपा में जो कुछ हो रहा है वह पहले से लिखी पटकथा पर आधारित ड्रामा है जिसका मकसद लोगों का ध्यान असल मुद्दे से बांटना है।

बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव ने कहा कि लोगों ने 2012 में सपा को जनादेश दिया था क्योंकि वे मायावती सरकार के समय खराब कानून व्यवस्था और विकास के अभाव से नाराज थे। लेकिन अखिलेश भी मायावती के कदम पर ही आगे चले। राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति काफी खराब है, अखिलेश मुख्यमंत्री के साथ राज्य के गृह मंत्री भी हैं और वे अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकते। श्रीकांत शर्मा ने कहा कि मतदाता इस बार झांसे में नहीं आएंगे। लोगों ने बीजेपी के पक्ष में मन बना लिया है। बीजेपी के पक्ष में लहर चल रही है। उन्होंने कहा कि विभिन्न बीजेपी शासित राज्यों में विकास और सुशासन का उदाहरण लोगों के समक्ष है।

Leave a Reply