कांग्रेस ने पंजाब में लोगों को एक दूसरे खिलाफ खड़ा किया: जेटली

अमृतसर। केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने पंजाब में 1980 के दशक में आतंकवाद के बढ़ने के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि शिरोमणि अकाली दल और बीजेपी के बीच हुए गठबंधन ने राज्य के लोगों के जख्मों पर मरहम लगाया।

जेटली ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने 1984 का चुनाव साम्प्रदायिकता के मुद्दे पर लड़ा। साथ ही कहा कि पार्टी ने पंजाब में लोगों को एक दूसरे खिलाफ खड़ा किया। उन्होंने वहां लोगों से कहा कि राज्य की जनता ने 10 से 12 साल तक नुकसान झेला, हजारों लोग मारे गए और आम जीवन असंभव हो गया। जेटली ने कहा कि राज्य में आतंकवाद के खत्म होने के बाद प्रकाश सिंह बादल के नेतृत्व में अकाली-बीजेपी सरकार का गठन हुआ।

हमने सामाजिक गठबंधन किया था ना कि राजनीतिक। उन्होंने कहा कि गठबंधन ने लोगों के जख्मों पर मरहम लगाने की दिशा में काम किया और राज्य में शांति स्थापित की।

Leave a Reply