भारत बन सकता है समावेशी नवोन्मेष का वैश्विक नेतृत्वकर्ता: प्रणब मुखर्जी

नई दिल्ली। देश भर के दूर-दराज इलाकों से आए जमीनी स्तर के नवोन्मेषकों को पुरस्कृत करते हुए राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा है कि यदि देश भर के लाखों गांवों की अनसुलझी समस्याओं का अंबार नए-नए शोधों और आविष्कारों के लिए प्रेरणास्रोत बन सके तो भारत को समावेशी नवोन्मेष का वैश्विक नेतृत्वकर्ता बनने से कोई नहीं रोक सकता। राष्ट्रपति भवन में आयोजित ‘नवाचार महोत्सव’ में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने देश के उच्च शैक्षणिक संस्थानों और जमीनी स्तर के नवोन्मेषकों के बीच जुड़ाव का एक माध्यम बनाने पर जोर दिया।

उन्होंने कहा, ‘‘शैक्षणिक समुदाय को इस बात का अध्ययन करना चाहिए कि किस तरह आम लोगों के सृजनशील मस्तिष्क बिना किसी बाहरी मदद के ही अपने आसपास की समस्याओं को हल कर लेते हैं। ऐसे में यदि उन्हें स्थापित संस्थानों से सहयोग मिल जाए तो वे और अधिक अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं।’’ राष्ट्रपति ने कहा कि शैक्षणिक संस्थानों में बनाए जाने वाले नवोन्मेषी क्लब छात्रों को अपने आसपास की सामाजिक समस्याओं को खोजने, समझने, हल करने और नवोन्मेष का जश्न मनाने के लिए प्रेरित कर सकते है।

राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘हमें बच्चों में वैज्ञानिक उत्सुकता को बढ़ावा देना चाहिए और उन्हें कुछ नया सृजन करने के लिए प्रेरित करना चाहिए।’’ जमीनी स्तर के नवोन्मेषों को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रपति भवन की ओर से उठाए गए कदमों का उल्लेख करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि देश भर की सांस्कृतिक रचनात्मकता को, शैक्षणिक, संस्थागत एवं तकनीकी नवोन्मेषों को रेखांकित करने के लिए राष्ट्रपति भवन में समावेशी नवोन्मेष की एक स्थायी प्रदर्शनी लगाई गई है। यह प्रदर्शनी यहां आने वालों को नए-नए प्रयोग करने के लिए प्रेरित कर सकती है।

उन्होंने राष्ट्रपति भवन में मेहमान के रूप में नवोन्मेषकों, कलाकारों और लेखकों को एक सप्ताह से अधिक समय तक रहने का अवसर दिए जाने का भी जिक्र किया। जमीनी स्तर के नवोन्मेषकों को पुरस्कृत करने के बाद राष्ट्रपति ने इन नवोन्मेषकों के नवोन्मेषों की प्रदर्शनी का उद्घाटन भी किया। राष्ट्रपति भवन और भारतीय नवप्रवर्तन प्रतिष्ठान के सहयोग से आयोजित यह ‘नवाचार महोत्सव’ 10 मार्च तक चलेगा।

Leave a Reply

1 Trackback


    Warning: call_user_func() expects parameter 1 to be a valid callback, function 'blankslate_custom_pings' not found or invalid function name in /home/content/81/11393681/html/tevartimes/wp-includes/class-walker-comment.php on line 180