अनंतनाग-श्रीनगर उपचुनावों से पहले अलगाववादी नेता यासीन मलिक गिरफ्तार

श्रीनगरः जम्मू कश्मीर के अलगाववादी नेता मोहम्मद यासीन मलिक को आज श्रीनगर गिरफ्तार कर लिया गया. जम्मू कश्मीर लिब्रेशन फ्रंट के प्रमुख यासीन ने एक दिन पहले श्रीनगर और अनंतनाग लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में मतदाताओं से हिस्सा नहीं लेने के लिए कहा था.

महबूबा मुफ्ती ने कश्मीर के कुछ इलाकों से ‘अफ्सपा’ हटाने की वकालत की

जेकेएलएफ के प्रवक्ता ने कहा कि श्रीनगर के मध्य में जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट के दफ्तर अबी गुजर पर पुलिस के एक दल ने छापा मारा और चुनाव बहिष्कार का अभियान चलाने से रोकने के लिए मलिक को गिरफ्तार कर लिया.

कश्मीर में मुठभेड़, सुरक्षा बलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया

जेकेएलएफ और सैयद अली शाह गिलानी की अगुवाई वाले, हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के कट्टरपंथी घटक ने कल (शुक्रवार को) श्रीनगर में एक विरोध रैली करके संयुक्त तौर पर चुनाव बष्हिकार अभियान शुरू किया था.

क्यों होना है उपचुनाव

आपको बता दें कि अनंतनाग सीट, महबूबा के मुख्यमंत्री बनने के बाद इस्तीफा देने से खाली हुई थी. वहीं श्रीनगर सीट पीडीपी के एमपी तारिक अहमद कारा के इस्तीफा देने से खाली हुई थी. तारिक, पीडीपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए थे. इसके बाद से ये सीट भी खाली थी और यहां भी उप चुनाव होना था. कारा ने अपनी पद से ऐसे समय में इस्तीफा दिया था जब श्रीनगर में हिंसा का माहौल था.

श्रीनगर संसदीय क्षेत्र का उपचुनाव नौ अप्रैल को होने जा रहा है, जबकि अनंतनाग सीट के लिए 12 अप्रैल को मतदान होगा. इन चुनावों के मद्देनजर गांदरबल, बडगाम, श्रीनगर, पुलवामा, शोपियां, कुलगाम और अनंतनाग में आदर्श चुनाव आचार संहिता लागू है.

Leave a Reply