गुरमेहर पर नहीं वामपंथियों पर टिप्पणी की थीः रिजिजू



नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने आज कहा कि ‘सेना के शहीद की बेटी के मस्तिष्क को कौन प्रदूषित कर रहा है’ संबंधी उनका बयान वामपंथियों पर केंद्रित था, साथ ही इस बात को रेखांकित किया कि वह अपने विचार व्यक्त करने को स्वतंत्र है। रिजिजू का यह बयान ऐसे समय में आया है जब एक दिन पहले ही उन्होंने सवाल उठाया था कि 20 वर्षीय गुरमेहर कौर के मस्तिष्क को कौन प्रदूषित कर रहा है। इस बयान पर विपक्षी दलों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी। रिजिजू ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं अपने बयान पर कायम हूं। कोई भी व्यक्ति जो सोशल मीडिया पर लिखता हो, उसे सजग रहना चाहिए। लेकिन विपरीत विचार रखने वालों को भी बोलने दिया जाना चाहिए। गुरमेहर युवा लड़की है और उसे अपने मन की बात रखने देना चाहिए।’’

उन्होंने कहा, ‘‘जब मैं कहता हूं कि कोई उसके (गुरमेहर) मस्तिष्क को प्रदूषित कर रहा है, तब मेरा आशय वामपंथियों से होता है।’’ गृह राज्य मंत्री रिजिजू ने कहा कि अगर कौर को कोई धमकी मिली है तब उससे सख्ती से निपटा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि लेकिन कुछ लोग इस मुद्दे को लेकर राजनीति कर रहे हैं। वामपंथियों के रूख को लेकर आलोचना करते हुए रिजिजू ने कहा कि जब भी भारतीय सैनिक मरते हैं, वे उत्सव मनाते हैं। उन्होंने कहा कि 1962 में जब हम चीन के साथ लड़ाई लड़ रहे थे तब वामपंथी चीनियों का समर्थन कर रहे थे। आज भी जब हमारे सैनिक मरते हैं तब वे उत्सव मनाते हैं। वे विश्वविद्यालयों में जाते हैं और युवाओं को गुमराह करते हैं।

रिजिजू ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को ‘अराजक’ करार देते हुए कहा कि वे कुछ ऐसे छात्रों का पक्ष ले रहे हैं जो दिल्ली विश्वविद्यालय में समस्या खड़ी कर रहे हैं। मंत्री ने कांग्रेस से विश्वविद्यालय से दूर रहने को कहा क्योंकि उनकी कोई विचारधारा नहीं है।

Leave a Reply

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache