यूपी में भाजपा की सरकार बनते ही गायत्री जायेंगे सलाखों के पीछे: अमित शाह



अंबेडकरनगर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही बलात्कार के आरोपी मंत्री गायत्री प्रजापति को सलाखों के पीछे पहुंचाया जाएगा। शाह ने प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को चुनौती देते हुए कहा, ‘गुनाहगारों का गिरेबान पकडो आपसे नहीं होगा अखिलेश .. ना करना हो तो ना करो .. 11 (मार्च) तारीख को भाजपा की सरकार बनेगी तो हम गायत्री प्रजापति को पाताल से भी ढूंढकर सलाखों के पीछे डाल देंगे।’

उन्होंने कहा कि प्रदेश की पुलिस ने अखिलेश के खासम खास गायत्री के खिलाफ बुंदेलखंड की एक माता और बेटी के बलात्कार के आरोप पर एफआईआर नहीं दर्ज की। मां बेटी को उच्चतम न्यायालय जाना पडा और शीर्ष अदालत के आदेश पर प्राथमिकी दर्ज की गयी। शाह ने कहा कि उसके बाद भी छह दिन तक गायत्री चुनाव प्रचार करते रहे और पुलिस ने उन्हें नहीं पकडा। गायत्री ने 27 फरवरी को वोट भी डाल दिया, तब भी नहीं पकडा। ‘कहते हैं कि गायब हो गये, फिर कहते हैं कि सरेंडर (आत्मसमर्पण) करो। क्या सरेंडर की सलाह के लिए मुख्यमंत्री या पुलिस होती है?

इससे पहले जौनपुर की चुनावी सभा में मोदी ने कहा था, ‘इस देश में जब हम कुछ अच्छा करते हैं तो गायत्री मंत्र का जाप करते हैं लेकिन सपा-कांग्रेस गठबंधन गायत्री प्रजापति के मंत्र का जाप कर रहा है।’ मोदी ने कहा, ‘प्रजापति के खिलाफ मामला तो दर्ज किया गया लेकिन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव स्वयं उनके प्रचार के लिए गये और गायत्री उस समय वहां मौजूद थे .. अब पुलिस उन्हें खोज नहीं पा रही है।’

प्रधानमंत्री ने कहा कि एक बेटी न्याय की मांग कर रही है और मुख्यमंत्री गुनाहगार को बचा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के लिए इससे बडा दाग क्या हो सकता है, जब भैंस खो जाती है तो उसका पता लगाने के लिए सरकार दौड पडती है। मोदी ने कहा, ‘लेकिन एक बेटी न्याय के लिए गुहार लगा रही है और पुलिस एवं मुख्यमंत्री सो रहे हैं .. ऐसी सरकार को सजा मिलनी च़ाहिए।’’ उन्होंने वोटरों को याद दिलाते हुए कहा कि उनके पास ऐसे लोगों के पिंडदान का अवसर है।

अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) चौधरी ने कहा कि प्रजापति की जल्द गिरफ्तारी सुनिश्चित करने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स की भी मदद ली जा रही है। वह देश से बाहर नहीं जाने पाये, इसके प्रयास हो रहे हैं। उत्तर प्रदेश की नेपाल से सटी सीमा है और इस सीमा पर सुरक्षा की जिम्मेदारी केन्द्रीय बल सशस्त्र सीमा बल :एसएसबी: की है। एसएसबी को भी प्रजापति के मामले में एलर्ट कर दिया गया है।

इस बीच भाजपा के प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक ने कहा, ‘बलात्कार का आरोपी मंत्री अखिलेश यादव की कैबिनेट में कैसे बना रह सकता है। मुख्यमंत्री को इसका जवाब देना चाहिए और स्पष्ट करना चाहिए कि क्या यही..काम बोलता है।’ पाठक ने यहां संवाददाताओं से कहा कि मुख्यमंत्री का कोई कार्रवाई नहीं करना भाजपा के आरोपों को सही साबित करता है कि अखिलेश यादव बलात्कार के आरोपी मंत्री को पूरा संरक्षण दे रहे हैं।

Leave a Reply

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache