यूपी में CM पर सस्पेंस! नाम उछाले जाने पर बोले राजनाथ- ये फालतू बात



केंद्रीय गृह मंत्री और लखनऊ से लोकसभा सांसद राजनाथ सिंह

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में प्रचंड बहुमत के साथ जीत हासिल करने वाली भारतीय जनता पार्टी के सामने इस वक्त जो सबसे बड़ा सवाल है वो ये कि पार्टी किस नेता को देश के इस सबसे प्रदेश का मुख्यमंत्री नियुक्त करेगी. वैसे तो इसमें कई प्रमुख नाम हैं, लेकिन केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह सबसे आगे हैं. हालांकि उन्होंने इस बात को ‘बकवास’ बताकर खारिज दिया कि उनका नाम मुख्यमंत्री पद के लिए चुना गया है.
इस संबंध में एक रिपोर्टर द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में राजनाथ सिंह ने कहा, क्या फालतू बात है? सब अनावश्यक है. राजनाथ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से लोकसभा सांसद हैं और भाजपा उन्हें एक सफल नेतृत्वकर्ता के तौर पर देख रहे हैं, लेकिन खुद वे इसमें दिलचस्पी नहीं दिखा रहे.
हालांकि उत्तर प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री के लिए केशव प्रसाद मौर्य के नाम पर गंभीरता से विचार किया जा सकता है. उन्होंने मंगलवार (14 मार्च) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात की थी. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और फूलपुर से सांसद केशव प्रसाद ने पीएम से मुलाकात पर कहा था कि उत्तर प्रदेश में पार्टी को मिली अप्रत्याशित जीत के लिए पीएम नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देने के लिए गए थे.

और पढ़ें… पंजाब में हार से ‘बौखलाए’ अरविंद केजरीवाल, चुनावी नतीजों पर उठाए सवाल

सीएम के लिए राजनाथ सिंह का नाम सबसे ऊपर: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा की ऐतिहासिक जीत के बाद अब सबकी निगाहें मुख्यमंत्री की कुर्सी पर टिकी हैं और तमाम नये पुराने चेहरों को लेकर अटकलबाजी जारी है. केन्द्र और राज्य के दो इंजनों की मदद से ‘अच्छे दिन’ लाने का वायदा करने वाली भाजपा के विधायक दल की राजधानी में बैठक होने के साथ ही पार्टी संभवत: 16 मार्च तक मुख्यमंत्री पद के लिए नाम तय कर लेगी.

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह (65) का नाम मुख्यमंत्री पद के लिए जोरों से चल रहा है. राजनाथ पहले भी उत्तर प्रदेश की कमान संभाल चुके हैं. वह अनुभवी हैं और लोकप्रिय भी. कुछ का कहना है कि राजनाथ केन्द्र छोडकर उत्तर प्रदेश नहीं आएंगे लेकिन कुछ ये भी मानते हैं कि पार्टी का फैसला होगा तो वह यह जिम्मेदारी संभाल सकते हैं.

और पढ़ें… लालकृष्ण आडवाणी होंगे भारत के अगले राष्ट्रपति, पीएम मोदी ने प्रस्तावित किया नाम?

रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा (57) का नाम भी चर्चा में है. वह भूमिहार हैं, पूर्वांचल से ताल्लुक रखते हैं. समर्पित कार्यकर्ता की छवि रखने वाले सिन्हा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के करीबी हैं.

Leave a Reply

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache