अगर सच है इन पूर्व कप्तानों की बात तो रांची टेस्ट हार जाएगी टीम इंडिया!



जो टॉस जीतेगा वही मैच भी जीतेगा’ (PIC : BCCI)

नई दिल्ली : भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज का तीसरा टेस्ट रांची में शुरू हो चुका है. चार टेस्ट मैचों की सीरीज में दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर हैं. सीरीज का पहला टेस्ट पुणे में ऑस्ट्रेलिया ने और दूसरा टेस्ट बेंगलुरु में भारत ने जीता. इस मैचों की जीत में एक खास बात ये थी कि इन दोनों टेस्ट मैचों में जिस टीम ने भी टॉस जीता, वहीं टीम मैच जीतने में भी कामयाब रही है. बता दें कि पुणे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने टॉस और मैच दोनों जीते. इसके बाद बेंगलुरु टेस्ट में टीम इंडिया ने टॉस भी जीता और मैच भी. ऐसे में लग रहा है कि रांची टेस्ट भी ऑस्ट्रेलिया के खाते में ही आ जाएगा.
पुणे टेस्ट के बात ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क और बेंगलुरु टेस्ट के बाद भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली ने भी कहा था कि पिछले दो टेस्ट और बाकी के दो टेस्ट मैचों में टॉस अहम रोल अदा करेगा.
पुणे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया की जीत के बाद क्लार्क ने कहा था कि भारत को पुणे की तुलना में ‘बेंगलुरु में हराना काफी मुश्किल’ होगा, क्योंकि पुणे में टॉस जीतना स्टीव स्मिथ के खिलाड़ियों के पक्ष में रहा था.
क्लार्क ने एक टीवी इंटरव्यू में कहा था कि, ”ऑस्ट्रेलिया के लिए भारत को पुणे की तुलना में बेंगलुरू में हराना काफी कठिन होगा. अगर भारत टॉस जीत गया होता और पुणे में उसने बल्लेबाजी की होती तो मुझे नहीं लगता कि परिणाम यही हुआ होता.” पूर्व कप्तान का मानना है, ”भारत में पहली पारी का स्कोर काफी अहम होता है.

टॉस और जीत के मामले में सौरव गांगुली की राय भी क्लार्क से जुदा नहीं है. बेंगलुरु टेस्ट में भारत की जीत के बाद गांगुली ने भी संवाददाताओं से कहा था, “यह विशेष जीत है. भारत की वापसी शानदार रही. लेकिन अगर पिचें इसी तरह रहीं तो जो टीम टॉस जीतेगी वह मैच जीतेगी.”

पुणे- बेंगलुरु की तरह ही है रांची पिच

भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रही टेस्ट सीरीज के पुणे और बेंगलुरु टेस्ट की पिच को लेकर सवाल उठते रहे हैं. अब रांची पिच पर भी विशेषज्ञों की राय कुछ अलग नहीं है. माना यही जा रहा है कि रांची विकेट का मिजाज भी पहले दो टेस्ट मैचों के आसपास ही होगा.

विशेषज्ञों की माने तो रांची की पिच पूरी तरह से सूखी है. इस पिच से घास की एक-एक पत्ती साफ कर दी गई है. दूर से देखने पर कुछ हिस्से पर ‘रफ’ दिखाई दे रहा है. यहां तक कि आउटफील्ड भी हरा-भरा नहीं है. अंपायर और मैच रेफरी पिच तक गए और उन्हें कम से कम पिच ऐसी नहीं लगी, जिसे मैच के लिए फिट न माना जाए. लेकिन मैच के लिए फिट विकेट क्या ऐसी होगी, जहां मुकाबला पांच दिन तक चल सके?

पुणे में हार के बाद भारत ने बेंगलुरु में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया को हरा चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली है. अब तीसरा मैच 16 मार्च से रांची में खेला जा रहा है.

Leave a Reply

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache