योगी का बूचड़खानों पर वार जारी, अब तक 300 से ज्यादा सील



लखनऊः यूपी में योगी आदित्यनाथ के कुर्सी संभालते ही योगी ईन एक्शन देखने को मिल रहा है. राज्य में योगी आदित्यनाथ सरकार के आते ही प्रशासन एकदम सक्रिय हो गया है, सीएम की कुर्सी संभालते ही प्रदेश में कई आदेश जारी हो चुके हैं. इसमें अवैध बूचड़खाने को बंद करने, सचिवालय व सरकारी इमारतों में पान-मसाले और प्लास्टिक पर बैन जैसे आदेश शामिल है.
300 से ज्यादा बूचड़खाने सील

पिछले राज्य में अब तक 300 से ज्यादा अवैध बूचड़खानों को सील किया जा चुका है. प्रशासन की ओर से अवैध बूचड़खानों को सील करने की मुहिम आज भी जारी है. लखनऊ से लेकर हाथरस और मऊ से लेकर गोरखपुर तक हर जगह पुलिस सड़क पर मीट और मछली बेचने वालों को भी हटा रही है. दिल्ली से सटे गाजियाबाद में भी लगभग 20 बूचड़खाने बंद कराए गए हैं. बूचड़खानों में काम कर करने वाले लोगों की मांग है कि सरकार उन्हें दूसरी जगह रोजगार दे या फिर बूचड़खाने चलाने का लाइसेंस दे. वे अब कोर्ट जाने की तैयारी कर हैं.

योगी इफेक्ट : 105 साल में पहली बार बंद रही ‘टुंडे कबाबी’ की दुकान

100 से ज्यादा पुलिसकर्मी सस्पेंड

वहीं खबरों के मुताबिक योगी सरकार के बनने के बाद प्रदेश के विभिन्न शहरों में अभी तक 100 से अधिक पुलिसकर्मी सस्पेंड किए जा चुके हैं। सबसे ज्यादा पुलिसकर्मी गाजियाबाद, मेरठ और नोएडा में सस्पेंड किए गए. लखनऊ में सात इंस्पेक्टर सस्पेंड किए गए. यूपी पुलिस के पीआरओ राहुल श्रीवास्तव ने बताया कि 100 से ज्यादा पुलिसकर्मी सस्पेंड किए गए. उनमें ज्यादातर कॉन्सटेबल हैं. डीजीपी जावेद अहमद के निर्देश पर इन पुलिसकर्मियों के खिलाफ एक्शन लिया गया.

कानून व्यवस्था: एक्शन में आई योगी सरकार

UP में एंटी रोमियो स्क्वायड से मनचलों की शामत

पुलिस ने ट्वीट किया कि स्क्वायड ने लखनउ, बुलंदशहर, मेरठ, मिर्जापुर और रायबरेली में सघन निगरानी की. पुलिस महानिरीक्षक ए सतीश गणेश ने बताया कि लखनउ जोन के तहत आने वाले 11 जिलों के पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिया गया है कि वे संवेदनशील जगहों पर स्क्वायड लगायें. स्क्वायड यह भी देखेगा कि सार्वजनिक जगहों पर शराब का सेवन नहीं होने पाये क्योंकि अकसर शराब के नशे में लोग सामने गुजरने वाली लड़कियों को छेड़ते हैं. स्क्वायड का कामकाज शुरू होने के बाद से अब तक पांच युवकों को हिरासत में लिया गया और करीब 934 लोगों से पूछताछ की गयी. शहर के विभिन्न हिस्सों में 176 जगहों पर निगरानी की गयी.

हजरतगंज कोतवाली पहुंचे योगी आदित्यनाथ

गौरतलब है कि गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राजधानी लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली पहुंचे थे. यहां उन्होंने पीड़ितों की मूलभूत समस्याओं के साथ पुलिस विभाग में व्यवस्थाओं में कमियों की जानकारी ली. उन्होंने मुकदमों को लिखे जाने और उनके निस्तारण में कितना समय लगता है, इस बाबत वहां काम करने वाले मुंशियों और सिपाहियों से पूछा.

Leave a Reply

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache