EVM में गड़बड़ी पर सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग को भेजा नोटिस, मांगा जवाब

EVM गड़बड़ी पर सुप्रीम कोर्ट का EC को नोटिस, मांगा जवाब

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट ने आज ईवीएम मशीनों छेड़छाड़ से जुड़ी याचिका पर सुनवाई की. इस मामले में कोर्ट ने आज चुनाव आयोग को नोटिस जारी करते हुए चार हफ्तों में जवाब मांगा है. याचिका में ईवीएम मशीनों पर सवाल उठाए गए हैं और कहा गया है कि मशीनों में गड़बड़ी की गई है इसलिए इन मशीनों की अमेरिका के एक्सपर्ट से जांच कराई जाए. वकील एम.एल. शर्मा की याचिका में कहा गया है कि ईवीएम में कई खामियां हैं. इन मशीनों से निष्पक्ष चुनाव और परिणाम नहीं आ सकते हैं.

ईवीएम से छेड़छाड़ को लेकर मायावती जाएंगी कोर्ट

हालांकि कोर्ट ने याचिकाकर्ता की उस दलील को खारिज कर दिया जिसमें कहा गया था कि सुप्रीम कोर्ट सीबीआई को आदेश दे कि वह इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करे और कोई भी ईवीएम जब्त कर उसकी जांच करे.सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इसकी कोई जरूरत नहीं है और सिर्फ चुनाव आयोग को नोटिस कर जवाब देने को कहा है.

गौरतलब है कि, यूपी चुनाव नतीजों के बाद बीएसपी की अध्यक्ष मायावती और दिल्ली के सीएम व आप नेता अरविंद केजरीवाल ने ईवीएम मशीनों की विश्वसनीयता पर सवाल उठाया था। दोनों का आरोप है कि मशीनों से छेड़छाड़ कर उनके वोट भाजपा ने ले लिए हैं। इसी से जुड़ी एक याचिका सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई है।
EC ने खारिज कीं ईवीएम पर केजरीवाल और मायावती की दलीलें

EVM से छेड़छाड़ को नकार चुका है चुनाव आयोग

हालांकि इन दोनों ही नेताओं के आरोपों को चुनाव आयोग पहले ही नकार चुका है. आयोग ने कड़े शब्दों में कहा है कि ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी की आरोप बेबुनियाद और बेतुके हैं. उन्हें चुनाव के दौरान किसी दल या प्रत्याशी या दल की तरफ से छेड़छाड़ की शिकायत या सबूत नहीं मिले हैं. पूरा चुनाव पारदर्शी और निष्पक्ष है.

आयोग ने यह भी कहा था कि अगर कोई ठोस सबूत देता है तो उसकी जांच होगी. गौरतलब है इससे पहले भी छेड़छाड़ की शिकायतों को सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट खारिज किया है. यह मशीन सन् 2000 से चलन में है और 2004, 2009 के अलावा 2014 में 107 विधानसभा चुनावों में उपयोग की जा चुकी है.

Leave a Reply

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache