ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ने विराट को बताया ‘घमंडी’, कहा- बच्चों की तरह बर्ताव कर रहे

नई दिल्ली : भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच हुई चार टेस्ट मैचों की सीरीज के दौरान टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली शुरू से ही ऑस्ट्रेलियाई मीडिया के निशाने पर हैं. टीम इंडिया आठ विकेट से धर्मशाला टेस्ट जीतकर 2-1 से सीरीज भी जीत ली है. जहां, सीरीज जीतने के बाद ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीवन स्मिथ ने अपने व्यवहार के लिए माफी मांगी. वहीं, विराट कोहली ने कहा कि अब उनका ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों से कोई दोस्ताना नहीं है.

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों पर भड़के कोहली, कहा- अब वे दोस्त नहीं

कोहली के इन बयान के बाद से ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ने उनकी आलोचना शुरू कर दी है. बुधवार को ऑस्ट्रेलिया के ज्यादातर बड़े अखबारों में भारतीय कप्तान के ‘खराब’ व्यवहार की आलोचना की गई है. मीडिया में कोहली के व्यवहार को ‘स्तरहीन’ तक कहा गया है.

कोहली को नाराज कर अब रहाणे से ‘दोस्ताना’ निभा रहे स्मिथ!

बता दें कि कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धर्मशाला टेस्ट जीतने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि उन्हें नहीं लगता कि वह कभी ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों से दोबारा दोस्ती कर सकते हैं. इसके बाद से ऑस्ट्रेलियाई अखबारों ने उन्हें अपने निशाने पर ले लिया है.

 हार के बाद स्टीव स्मिथ ने मांगी माफी, बोले- भावनाओं में बह गया था

ऑस्ट्रेलियाई अखबार सिडनी डेली टेलीग्राफ ने कोहली के बर्ताव को ‘घमंड’ से भरा बताते हुए ने कहा कि कोहली को सीरीज खत्म होने के बाद हाथ मिलाकर बात खत्म करनी चाहिए थी लेकिन वह बच्चों की तरह बर्ताव कर रहे हैं.

सीरीज जीतने के बाद गरजे कोहली, हम जैसे को तैसा देने में माहिर

अखबार द ऑस्ट्रेलियन के पीटर लेलॉर ने लिखा, ‘सीरीज के बाद भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान के उस प्रस्ताव को ठुकरा दिया जिसमें उन्होंने सीरीज के बाद साथ ड्रिंक करने का ऑफर दिया था.’ लेलॉर की नजर में भारतीय टीम का यह व्यवहार खेल भावना के पूरी तरह विपरीत था.’

26वीं बार टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया को हराकर भारत ने बनाए ये रिकॉर्ड

कोहली के व्यवहार की तुलना स्टीव स्मिथ से भी की गई. स्मिथ ने मुरली विजय को गाली देने के बाद माफी मांग ली थी. हेरल्ड सन अखबार ने लिखा, ‘कोहली को अपने बर्ताव के लिए सॉरी बोलना था और स्टीवन स्मिथ ने ऐसा किया.’

बता दें कि ‘डीआरएस ब्रेन फेड’ प्रकरण के बाद कोहली ने ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ को लगभग धोखेबाज कह डाला था, जिसके बाद ऑस्ट्रेलिया के मौजूदा और पूर्व क्रिकेटरों के साथ उनके मीडिया ने भी भारतीय कप्तान को निशाना बनाया था. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के सीईओ जेम्स सदरलैंड ने ताना कसते हुए रेडियो पर कहा कि कोहली को शायद ‘सॉरी’ शब्द की स्पेलिंग नहीं पता.

इतना ही नहीं ‘द डेली टेलीग्राफ’ में प्रकाशित एक लेख में विराट कोहली को डोनाल्ड ट्रंप बताया गया था. लेख में कहा गया कि विराट कोहली स्पोर्ट्स की दुनिया के डोनाल्ड ट्रंप बन गए हैं. राष्ट्रपति ट्रंप की तरह ही कोहली ने भी मीडिया को हर चीज के लिए दोषी ठहराना शुरू कर दिया है.

क्रिकेट आस्ट्रेलिया ने बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में टीम के प्रयासों को सराहा

वहीं, दूसरी ओर क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने बुधवार को आस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम को भारत के खिलाफ बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में दिए गए अच्छे प्रदर्शन के लिए बधाई दी.

ऑस्ट्रेलिया टीम को अच्छे प्रदर्शन के लिए बधाई देते हुए सीए के चेयरमैन डेविड पीवर ने कहा, “अगले दो दिनों में टीम स्वदेश लौटेगी और वे महसूस करेंगे कि सभी आस्ट्रेलियाई नागरिकों को उनके प्रयासों पर गर्व है. कुछ ने उन्हें टेस्ट प्रारूप की शीर्ष स्तर की टीम को परखने का मौका दिया था. हालांकि, आस्ट्रेलियाई टीम ने दृढ़ संकल्प, अनुकूलनशीलता का परिचय दिया.”

पीवर ने कहा, “आस्ट्रेलियाई टीम बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी को जीतने के बेहद करीब थी. व्यक्तिगत रूप से टीम के कई खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन कप्तान स्टीव स्मिथ बेहतरीन रहे. उन्होंने एक बार फिर दर्शा दिया है कि वह बेहतरीन कप्तान हैं. इसके अलावा श्रृंखला के अंत में उनके विनम्र टिप्पिणयों ने एक आस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान के गुणों को साबित किया है.”

Leave a Reply