जियो की अतिरिक्त पेशकश नियमों के अनुरूप नहीं: ट्राई

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के चेयरमैन आर.एस. शर्मा ने आज कहा कि दूरसंचार नियामक ने रिलायंस जियो को उसकी ‘‘अतिरिक्त’’ सेवा पेशकश को बंद करने की सलाह दी है। कंपनी से कहा गया है कि उसकी यह सेवा नियमों के अनुरूप नहीं है। शर्मा ने कहा, ‘‘हमने इसे देखा और पाया कि यह नियमों के अनुरूप नहीं है, इसलिये हमने कंपनी को इस तरह की पेशकश रोकने की सलाह दी है।’’

दूरसंचार नियामक ने गुरुवार को मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो से कहा कि वह तीन महीने की अतिरिक्त पेशकश वाली अपनी योजना को वापस ले ले। इस योजना में रिलायंस जियो ने अपने ग्राहकों को कम से कम 303 रुपये का भुगतान कर तीन महीने के लिये असीमित डाटा और मुफ्त काल सुविधा देने की पेशकश की है। ट्राई की तरफ से यह आदेश जियो की इस घोषणा के एक दिन बाद आया जिसमें कंपनी ने कहा कि उसके भुगतान करने वाले 7.20 करोड़ ग्राहक बन गये हैं। इसके साथ ही कंपनी ने एक बारगी 99 रुपये का भुगतान कर प्राइम सदस्यता पेशकश की अवधि 15 अप्रैल तक बढ़ा दी।

रिलायंस जियो ने कहा कि वह ट्राई के फैसले को स्वीकार करता है और जो सुझाव दिया गया है उसका पूरी तरह से पालन करेगा। ट्राई ने हालांकि, इससे पहले रिलायंस जियो की प्रोत्साहन पेशकश में कुछ भी गलत नहीं पाया। रिलायंस ने इससे पहले सेवा की शुरुआत करते समय निःशुल्क डाटा और वॉयस कॉल की पेशकश की थी। इस पेशकश के दौरान 10 करोड़ उपयोक्ता रिलायंस जियो के साथ जुड़े। इनमें से अब 7.20 करोड़ ग्राहकों ने भुगतान के साथ सेवा को अपनाया है।

Leave a Reply