उमा भारती का बयान- बाबरी मस्ज़िद ढांचा गिराने में कोई साज़िश नहीं, अपराध साबित होना बाक़ी

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने बुधवार (19 अप्रैल) को सुप्रीम कोर्ट द्वारा बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले को लेकर भाजपा के 12 नेताओं पर आपराधिक साज़िश का मामला चलाने के आदेश पर कहा कि हमने कोई साजिश नहीं की.
उन्होंने कहा, ‘जो मन में तय करके गए थे वहीं किया. मन, वचन, कर्म सबमें एक ही चीज़ थी.’

सुप्रीम कोर्ट के आदेश से जुड़े एक सवाल के जवाब में उमा ने कहा कि अभी साजिश का केस चलना है अपराध साबित नहीं हुआ है.

बाबरी मस्जिद केस में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला; आडवाणी, जोशी, उमा समेत 12 नेताओं पर चलेगा मुकदमा, कल्याण को राहत

इसके साथ ही उन्होंने राम मंदिर के लिए अपनी प्रतिबद्धता भी दोहराई. उन्होंने कहा, अयोध्या में राम मंदिर बनकर रहेगा. इसे बनाने से कोई माई का लाल नहीं रोक सकता. अयोध्या, गंगा और तिंरगे के लिए कुछ भी कर सकती हूं.’

एक अन्य सवाल के जवाब में उमा भारती ने कहा, ‘उन्हें पद का लोभ नहीं है. वह राम, गंगा और तिंरगा के लिए इंद्र का सिंहासन भी छोड़ सकती हैं.’

बाबरी मस्जिद केस : सुप्रीम कोर्ट ने इन नेताओं पर दिया मुकदमा चलाने का आदेश

कांग्रेस द्वारा इस्तीफा मांगने से जुड़े एक सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश में आपातकाल लगाने वाली और 1984 दंगे के पीछे रहने वाली पार्टी को इस्तीफ़ा मांगने का अधिकार नहीं है.

उमा भारती ने कहा कि वह आज (बुधवार, 19 अप्रैल) रात अयोध्या जा रही हैं. उन्होंने कहा, ‘मैं आज रात अयोध्या जा रही हूं. रामलला, रामजी को अपना गर्व और संतोष व्यक्त करूंगी कि इतना सम्मान दिया.

उमा भारती ने संवाददाताओं से कहा, ‘अयोध्या में भव्य राम मंदिर मेरा सपना है. भारत और राम मंदिर के लिए जेल जाने या फांसी के लिए भी तैयार हूं.’

उन्होंने जोर दिया कि उन्हें राम जन्मभूमि अभियान में अपनी भूमिका के लिए गर्व है और इस बात को लेकर कोई अफसोस या खेद नहीं है.

उमा ने कहा कि वह अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के मार्ग में कोई भी सजा भुगतने को तैयार हैं.

उल्लेखनीय है कि उच्चतम न्यायालय ने भाजपा के शीर्ष नेताओं लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती आदि के खिलाफ वर्ष 1992 के बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में लगे आपराधिक साजिश के आरोपों को बहाल करने की सीबीआई की याचिका को मंगलवार को स्वीकार कर लिया है।

न्यायालय ने नेताओं और ‘कारसेवकों’ के खिलाफ लंबित मामलों को भी इस मामले में शामिल कर दिया और कहा कि कार्यवाही दो साल में पूरी हो जानी चाहिए।

Leave a Reply

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache