नीति आयोग की बैठक में पीएम मोदी ने कहा, ‘जीएसटी, एक राष्ट्र, एक आकांक्षा और एक प्रतिबद्धता को दर्शाता है’

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नीति आयोग की संचालन परिषद की एक दिवसीय बैठक में कहा कि ‘न्यू इंडिया’ का विचार सभी राज्यों और मुख्यमंत्रियों के सामूहिक प्रयासों से हासिल होगा. इतिहास में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) पर सहमति को सहकारी संघवाद के रूप में देखा जाएगा. जीएसटी, एक राष्ट्र, एक आकांक्षा और एक प्रतिबद्धता को दर्शाता है. उन्होंने कहा, साथ-साथ चुनाव पर बहस और चर्चा को आगे बढ़ाया जाएगा, प्रधानमंत्री ने राज्यों से पूंजी व्यय और ढांचा सृजन की रफ्तार बढ़ाने को कहा.
बैठक का मुख्य एजेंडा देश की आर्थिक वृद्धि को प्रोत्साहन के लिए 15 साल के दृष्टि दस्तावेज पर विचार करना है. परिषद की यह एक दिवसीय बैठक राष्ट्रपति भवन में हो रही है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज यहां शुरू हुई नीति आयोग संचालन परिषद की बैठक में शामिल नहीं हुए.

एक सूत्र ने कहा कि ममता और केजरीवाल बैठक में शामिल होने के लिए राष्ट्रपति भवन नहीं आए हैं. सूत्र ने कहा कि बैठक में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया शामिल हुए हैं. सूत्र ने कहा कि बड़ी संख्या में मुख्यमंत्री इस बैठक में इसलिए शामिल हुए हैं क्योंकि प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके आधिकारिक प्रतिनिधियों को विचार विमर्श के लिए बैठक में शामिल होने की अनुमति देने से इनकार कर दिया था.

विपक्ष शासित राज्यों में से पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार, कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई. के. पलानीस्वामी बैठक में शामिल हुए हैं. बैठक में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और ओड़िशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक भी मौजूद हैं। इनके अलावा केंद्रीय मंत्रियों में नितिन गडकरी, राजनाथ सिंह, सुरेश प्रभु, प्रकाश जावड़ेकर, राव इंद्रजीत सिंह तथा स्मृति ईरानी बैठक में शामिल हैं.

Leave a Reply

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache