दिल्ली में तीनों निगम के एक्जिट पोल में भाजपा को बहुमत

दिल्ली नगर निगम चुनाव के लिये रविवार को हुये मतदान में एक्जिट पोल के नतीजे पूरी तरह से भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में जाते दिख रहे हैं। शाम साढ़े पांच बजे तक हुये मतदान के तुरंत बाद जारी सभी प्रमुख एक्जिट पोल में भाजपा को 200 से अधिक वार्ड में जीत मिलने का दावा किया गया है। जबकि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच दूसरे और तीसरे नंबर के लिये कांटे की टक्कर बतायी गयी है। तीनों नगर निगमों के 272 में 270 वार्ड के लिये सुबह आठ बजे से शाम साढ़े पांच तक हुये मतदान के तुरंत बाद सबसे पहले सी-वोटर एबीपी न्यूज द्वारा जारी एक्जिट पोल में भाजपा को 218 वार्ड में जीत मिलने का अनुमान व्यक्त किया गया है। वहीं आप को 24 और कांग्रेस को 22 वार्ड जीतने का दावा किया गया है।
इंडिया टुडे द्वारा जारी दूसरे एक्जिट पोल में भी भाजपा का पलड़ा भारी दिखाया गया। इसमें भाजपा को तीनों निगमों में पूर्ण बहुमत के साथ 202 से 220 के बीच सीटें मिलने और आप को 23 से 35 तथा कांग्रेस को 19 से 31 तक सीमित रखा गया है। एक्जिट पोल में भाजपा को 43 प्रतिशत वोट मिलने और आप को 24 प्रतिशत वोट मिलने की बात कही गयी है। एक्जिट पोल के अलावा मतदान खत्म होने के बाद डीयू से संबद्ध विकासशील राज्य शोध केन्द्र द्वारा जारी चुनाव पूर्व सर्वेक्षण में भी भाजपा को 214 सीटें मिलने का अनुमान व्यक्त किया गया है। जबकि आप को 29 और कांग्रेस को 24 सीटें मिलने की बात कही गयी है। संगठन का 39147 मतदाताओं से मिले नमूनों के आधार पर सभी 272 वार्ड में सर्वेक्षण करने का दावा किया गया है। तीन नगर निगमों के 272 वार्ड में से 270 वार्ड के लिये रविवार को मतदान हुआ। मौजपुर और सराय पीपल थाला वार्ड में उम्मीदवारों की मौत के कारण मतदान स्थगित कर दिया गया। चुनाव में भाजपा के 266, आप के 262, कांग्रेस के 267 और स्वराज इंडिया के 109 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। मतगणना 26 अप्रैल को होगी।

इस बीच, दिल्ली राज्य चुनाव आयोग (एसईसी) ने रविवार को हुए एमसीडी चुनाव पर ओपिनियन पोल प्रसारित करने के लिए दो निजी समाचार चैनलों को नोटिस जारी किया है। एसईसी के अधिकारियों ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि दो चैनलों- टाइम्स नाउ और एबीपी न्यूज से चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन कर ओपिनियन पोल प्रसारित करने के लिए कारण बताने को कहा गया है। कांग्रेस की दिल्ली इकाई ने निगम चुनावों पर ओपिनियन प्रकाशित और प्रसारित करने वाले एक अग्रणी मीडिया घराने के खिलाफ शनिवार को एसईसी का रूख किया था। पार्टी ने होने वाले चुनाव के 48 घंटे के दौरान ओपिनियन पोल प्रकाशित और प्रसारित करने के लिए ‘‘टाइम्स ऑफ इंडिया’’ और ‘‘टाइम्स नाउ’’ के खिलाफ चुनाव आयोग की मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) और दिशा-निर्देशों के उल्लंघन के लिए कार्रवाई की मांग की।

Leave a Reply

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache