चुनाव आयोग मुख्यालय के बाहर EVM को लेकर आप का प्रदर्शन

चुनाव आयोग मुख्यालय के बाहर आम आदमी पार्टी के सैंकड़ों कार्यकर्ताओं ने भविष्य में होने वाले चुनाव में वोटर वेरीफियेबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) से लैस ईवीएम का उपयोग करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। आप विधायकों और नव नियुक्त दिल्ली के संयोजक गोपाल राय ने आरोप लगाया है कि ईवीएम के साथ छेड़छाड़ से लोकतंत्र की हत्या हो रही है। दक्षिणपूर्वी दिल्ली से यहां आए आप के कार्यकर्ता आरके गुप्ता ने कहा, ‘‘ईवीएम के साथ छेड़छाड़ संभव है और इस पर तत्काल ध्यान देना चाहिए।’’
मुंडका से आई एक कार्यकर्ता प्रगति ने कहा, ‘‘इसी तरह से भाजपा ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में चुनाव जीता है। जातीय आधार पर वोटों का बंटवारा भी इस तरह की बड़ी जीत में मदद नहीं कर सकता है।’’ ईवीएम के साथ छेड़छाड़ पर विशेष जानकारी के बारे में पूछे जाने पर ज्यादातर प्रदर्शनकारी विधानसभा में आप के विधायक सौरभ भारद्वाज द्वारा ईवीएम के साथ कथित छेड़छाड़ का लाइव डेमो का उदाहरण दे रहे थे।

वीवीपीएटी से लैस ईवीएम की मांग के अलावा पार्टी चुनाव आयोग से एक और आग्रह करने की योजना बना रही है। उनकी मांग है कि कुल बूथों में से किन्हीं भी 25 फीसदी बूथों का चयन करके ईवीएम और पेपर ट्रेल में दर्ज वोट की गिनती की जाए। वीवीपीएटी से लैस ईवीएम में पेपर स्लिप होते हैं जो मतदताओं को इस बात की पुष्टि करते हैं कि उनका वोट उनके पसंद के उम्मीदवार को चला गया है। इस सप्ताह की शुरुआत में दिन भर चले विधानसभा के विशेष सत्र में इस मुद्दे पर चर्चा हुई थी। इसमें भारद्वाज ने दावा किया था कि ईवीएम के साथ सिर्फ सिक्रेट कोड डालकर छेड़छाड़ संभव है।

आईआईटी समूहों की ओर से विकसित किए गए एक प्रोटोटाईप ईवीएम का उपयोग करके भारद्वाज ने दिखाया था कि किसी एक उम्मीदवार को लाभ पहुंचाने के लिए इसके साथ छेड़छाड़ संभव है। भारद्वाज खुद भी एक इंजीनियर हैं।

Leave a Reply

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache