मेरे भाजपा में जाने की बातें कोरी अफवाह: नरेश अग्रवाल



लखनऊ। समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सदस्य नरेश अग्रवाल ने अपने भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की तैयारी करने को कोरी अफवाह करार देते हुए आज कहा कि भाजपा व्यापारी वर्ग का वोट ना मिलने के डर से ऐसी झूठी बातें प्रचारित कर रही है। अग्रवाल ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उनके भाजपा में जाने की बात कोरी अफवाह है। भाजपा उनसे डरी हुई है, इसीलिये वह ऐसी अफवाहें फैला रही है। यह उनकी छवि खराब करने की साजिश है। वह इस मामले में अदालत तक जाएंगे।

सपा से राज्यसभा सदस्य ने कहा, भाजपा जानती है कि जब वह चुनाव प्रचार के लिये निकलेंगे तो उसे व्यापारियों का वोट नहीं मिलेगा। अग्रवाल ने कहा, यह सच है कि वह हाल में गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिले थे। चूंकि वह गृहमंत्री हैं, इसलिये वह काम के सिलसिले में उनके पास गये थे। इससे यह अंदाजा नहीं लगाया जाना चाहिये कि वह भाजपा में जा रहे हैं। उनकी आस्था सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और महासचिव रामगोपाल यादव में है।

मालूम हो कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के करीबी माने जाने वाले अग्रवाल के सपा छोड़कर भाजपा में जाने की अटकलें जोरों पर थीं। कांग्रेस से गठबंधन के बारे में अग्रवाल ने कहा कि वह हमेशा कहते थे कि धर्मनिरपेक्ष शक्तियों को और ताकतवर होकर सामने आना चाहिये। यह काम कांग्रेस के बिना सम्भव नहीं है। हम कांग्रेस के साथ वर्ष 2019 में भी चुनाव लड़ेंगे। अग्रवाल ने एक सवाल पर कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अभी हों ना हों लेकिन भविष्य में प्रधानमंत्री पद के दावेवार जरूर होंगे। हम 2019 का चुनाव उन्हीं के नेतृत्व में लड़ेंगे।

सपा के राज्यसभा सदस्य बेनी वर्मा के अपने बेटे राकेश वर्मा को मनचाही जगह से चुनाव का टिकट ना दिये जाने पर नाराजगी जताये जाने के बारे में अग्रवाल ने कहा ‘‘बेनी को चाहिये कि वह राज्यसभा से इस्तीफा दे दें। ऐसा करके वह ज्यादा वीरता का काम करेंगे। भीतरघात से उन्हीं को नुकसान होगा।’’ मालूम हो कि बेनी अपने पुत्र राकेश के लिये बाराबंकी की रामनगर सीट चाहते थे, लेकिन उन्हें कैसरगंज सीट से सपा का टिकट दिया गया, जिसे बेनी ने अस्वीकार कर दिया था और अखिलेश पर परोक्ष रूप से प्रहार किये थे।

Leave a Reply

1 Trackback

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache