जमीन खिसकती देख बनारस में केंद्रीय मंत्री जमेः अखिलेश



भदोही। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज कहा कि वाराणसी में प्रधानमंत्री और उनके तमाम मंत्रियों का जमावड़ा विधानसभा चुनाव में अपनी जमीन खोने से उपजी उनकी घबराहट को जाहिर कर रहा है। अखिलेश ने ज्ञानपुर स्थित पुलिस लाइन के सामने मैदान में हुई सभा में कहा कि इस उमड़े जनसैलाब को जो भी देख लेगा वह यह समझ जाएगा की जनता किसके साथ है। जनता अब सरकार बनाने को इंतजार नहीं करना चाहती।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी में रोड शो कर रहे हैं। आप उसे भी देख लेना। उन्होंने कहा कि मोदी और उनके तमाम मंत्री वाराणसी में डेरा जमाए हुए हैं। यह साफ इशारा है कि उन्हें इस क्षेत्र में अपनी जमीन खिसकने का अंदाजा हो गया है और उनकी घबराहट जाहिर हो रही है। सपा अध्यक्ष ने मोदी को चुनौती देते हुए कहा कि उन्होंने तो उत्तर प्रदेश में अपने 10 विकास कार्य बता दिये हैं। प्रधानमंत्री केन्द्र में अपनी सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश के लिये किये गये 10 काम गिनाएं। हम पांच साल का हिसाब देते हैं और वह तीन साल का हिसाब दे कर बता दें। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने पांच साल में बहुत काम किया है। अब अगली सरकार में और भी ज्यादा काम करके दिखा देंगे। जनता को सपा की नीतियों पर भरोसा है। दोबारा सरकार बनने पर प्रदेश की हर गरीब महिला को एक हजार रूपये प्रतिमाह पेंशन दी जाएगी।

ज्ञानपुर सीट पर बाहुबली विजय मिश्रा का टिकट काटकर राम रति बिंद को देने के अपने फैसले का जिक्र करते हुए सपा अध्यक्ष ने किसी का नाम लिये बगैर कहा कि यहां एक अलग तरह का आदमी चुनाव में है। उससे बड़ी मुश्किल से छुटकारा पाया है। सुना है कि वह लोगों को धन बांट रहे हैं। हम अपने लोगों से कहते है कि पैसा रख लेना और साईकिल को वोट दे देना।

अखिलेश ने भदोही सीट से जाहिद बेग, औराई से मधुबाला पासी और ज्ञानपुर से राम रति बिंद के लिये वोट मांगते हुए कहा कि जिस तरह हर चरण में बढ़त मिली है उसी तरह आखिरी चरण में भी सपा को वोट देकर नई सरकार बनाये जिससे आपकी नयी जिंदगी की शुरूआत हो। सभा के बाद बड़ी संख्या में आये लोगों की भीड़ एक दीवार फांदकर सड़क पर आने लगी जिससे आठ फीट ऊंची लगभग 30 फीट लंबी वह दीवार धराशायी हो गई। इस हादसे में पांच लोगों को मामूली चोट आयी।

Leave a Reply

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache