अखिलेश निभाएं अपना वादा: अपर्णा

  • नेताजी को सौंपनी चाहिए पार्टी की बागडोर
  • अपनी हार के लिए पार्टी के नेताओं को बताया जिम्मेदार
  • बोलीं, सीएम योगी परिवार की तरह करेंगे यूपी की देखभाल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में करारी शिकस्त खाने के बाद सत्ता से बाहर हुई समाजवादी पार्टी के भीतर अब सवाल उठने लग गये हैं। चुनावों से ठीक पहले पार्टी की बागडोर अपने हाथ में लेने वाले सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के खिलाफ उनके छोटे भाई की पत्नी अपर्णा यादव ने बड़ा बयान दिया है। अपर्णा ने कहा है कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को अब अपना पद छोड़ देना चाहिए। अखिलेश यादव को पार्टी की कमान मुलायम सिंह यादव को दे देना चाहिए।
एक समाचार पत्र को दिये गये साक्षात्कार में अपर्णा ने कहा कि अखिलेश यादव को अपने वादों को पूरा करना चाहिए। चुनाव से पहले उन्होंने कहा था कि चुनावों के बाद वे पार्टी की कमान फिर से नेताजी को सौंप देंगे। अपर्णा ने बताया कि अखिलेश ने कहा था कि वो अपनी कही गई बातों से कभी पीछे नहीं हटते। हर हालत में वादों को पूरा करते हैं। उन्हें अपनी बातों को सच साबित करने के लिए पद छोड़ देना चाहिए।

लखनऊ के कैण्ट विधानसभा से अपनी हार का कारण अपर्णा ने सपा के कुछ नेताओं को ही बताया है। उन्होंने कहा कि पार्टी के कई नेताओं ने चुनाव प्रचार के दौरान उनका सपोर्ट नहीं किया। अपर्णा ने बताया कि वो ऐसी सीट से उम्मीदवार थी। जहां से कभी भी सपा नहीं जीती है। मुलायम की बहू ने कहा कि उन्होंने खुद एक टीम बनाई थी। लेकिन, आपसी मनमुटाव की वजह से वो काम नहीं कर पाई।

मुख्यमंत्री योगी से दो बार मुलाकात कर चुकी अपर्णा ने योगी सरकार के बारे में बात करते हुए कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ अपने परिवार की तरह यूपी की देखभाल करेंगे। अपर्णा ने कहा कि मुख्यमंत्री को अभी समय देना चाहिए। मुलायम की छोटी बहू ने कहा कि सूर्य नमस्कार और नमाज पर दिया गया योगी का बयान उन्हें पसंद आया। उन्होंने जानवरों के देखभाल के लिए उनसे बातचीत भी की है। योगी सरकार की अवैध बूचड़खानों पर हो रही कार्रवाई को उन्होंने सही बताया। अपर्णा के मुताबिक इस तरह से कानून के आधार पर काम काज होगा। लेकिन, बेरोजगार हुए लोगों के लिए भी सरकार को कोई नीति बनानी चाहिए।

Leave a Reply