जिला पंचायत की 46 सीटों के परिणाम घोषित



>> दिग्गजों ने कायम रखा दबदबा, अनामिका सिंह भारी मतों से हुई विजयी
>> कई निर्वतमान सदस्य भी नही बचा पाये अपनी साख, देर रात मिले प्रमाण पत्र
>> क्षेत्र पंचायत सदस्यों के परिणाम घोषित होने पर गांवों में जश्न का माहौल

फतेहपुर(तेवर टाइम्स)। जिला पंचायत सदस्य पद में 46 सीटों के हुये चुनाव में प्रत्याशियों की जीत तो सुनिश्चित हो गयी। दिनभर के इंतजार के बाद देर शाम चुनाव आयोग के निर्देश पर विजयी प्रत्याशियों को प्रमाण पत्र प्रदान किये गये। वहीं जिले के सभी 13 विकास खण्ड क्षेत्रों में क्षेत्र पंचायत सदस्य पद के लिए हुए चुनाव में सभी विजयी प्रत्याशियों को प्रमाण पत्र प्रदान कर दिये गये। वहीं निर्वाचन आयोग की सख्ती के कारण किसी भी विजयी प्रत्याशियों का जुलूस नही निकल पाया। जिला पंचायत सदस्य पद के लिए जिले के जो भी नामी-गिरामी लोगो के परिजन अपनी छवि बरकरार रखने में सफल रहे। जिला पंचायत सदस्य में 07 क्षत्रिय, 07 यादव, 05 कुर्मी, 02 मुस्लिम, 13 दलित, 02 गड़रिया, 01 निषाद एवं 02 लोधी सहित सभी 46 सीटों के उम्मीदवार विजयी हुए।
जिला पंचायत का चुनाव बड़ा रोचक रहा। हर सीट पर एक-दूसरे को पटकनी देने के लिए सभी पार्टियों के कई-कई उम्मीदवारों ने अपनी-अपनी दावेदारी ठोंक रखी थी। कहीं-कहीं पर तो एक ही पार्टी के उम्मीदवारों में सीधी टक्कर देखने को मिली। वहीं कहीं-कहीं पर उम्मीदवारों की विजय श्री को कोई भी रोक नही पाया और सबसे ज्यादा ऐरायां सीट पर भाजपा जिलाध्यक्ष की बहू अनामिका सिंह ने सबसे ज्यादा मतों से विजय श्री हासिल की। वहीं वार्ड नम्बर-1 बैगांव बसपा नेता स्व. मज्जू मियॉ के पुत्र मजहर सलमान ने अपने पिता की साख को बरकरार रखते हुए इस सीट पर कब्जा कर लिया। दूसरी ओर वार्ड नम्बर-39 गढ़ा में जिला पंचायत के दिग्गज माने-जाने वाले नरसिंह पटेल की अनसुइया देवी ने अतहर खॉ की पत्नी और पूर्व जिला पंचायत सदस्य कासिम उर्फ दरोगा की पत्नी को हराकर अपना दबदबा बरकरार रखा। वहीं वार्ड नम्बर-42 खैरई पर सपा के ही ओमप्रकाश गिहार की पत्नी सीता गिहार एवं सपा के दिग्गज नेता उजैर प्रधान के उम्मीदवार के बीच सीधा मुकाबला हुआ। जिसमें श्री गिहार की पत्नी ने जीत हासिल कर सबको चौंका दिया। मकनपुर सीट पर सपा नेता शफीकउद्दीन ने अपना दबदबा बरकरार रखा।
वार्ड नम्बर-43 हरदों से खागा बचाओ आंदोलन के संरक्षक एवं कर्ताधर्ता निर्वतमान जिला पंचायत सदस्य अरूण यादव अपनी साख को बचाने में विफल रहे। शमशेर सिंह ने उसको हराकर विजय श्री हासिल की। जिला पंचायत में अहम दबदबा रखने वाले पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जगनायक सिंह की पत्नी किरण यादव एवं पूर्व विधायक वीर अभिमन्यु सिंह उर्फ बीरन यादव के पुत्र ब्लाक प्रमुख नितिन यादव ने जीत दर्ज कर जिला पंचायत अध्यक्ष पद की कुर्सी के लिए सबको कशमकस में डाल दिया। वहीं भाजपा के जिलाध्यक्ष रणवेन्द्र प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी सिंह की बहू अनामिका सिंह एवं सातों धरमपुर से अभय प्रताप सिंह उर्फ पप्पू सिंह की पत्नी डा. निवेदिता सिंह ने जीत दर्ज कर जिला पंचायत अध्यक्षी की दावेदारी को और गर्मा दिया। समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह यादव की पत्नी एवं सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह यादव की पत्नी ने भी जीत दर्ज कर अध्यक्षी के चुनाव को और रोमांचित बना दिया। 13 दलित उम्मीदवारों के जिला पंचायत पहुॅचने से सभी दिग्गजों की गणित में उलटफेर होने की पूरी उम्मीद जतायी जा रही है। अध्यक्ष पद के लिए दलित विजयी प्रत्याशियों की उपयोगिता को नकारा नही जा सकता। अध्यक्ष पद की वोटिंग में इनकी भूमिका को जिला पंचायत के विशेषज्ञ अहम मान रहे है।

..अब जिले के विकास में इनकी होगी भूमिका
वार्ड नम्बर-1 बैगांव मजहर सलमान 263 वोटे, वार्ड नम्बर-2 सिठौरा से गुलशन लोधी 900 वोट, वार्ड नम्बर-3 संवत से योगेन्द्र यादव 500 वोट, वार्ड नम्बर-4 रज्जीपुर छिवलहा मनभावन शास्त्री, वार्ड नम्बर-5 जमरावां राकेश प्रजापति 250 वोट, वार्ड नम्बर-6 छेउका हुसैनगंज से शिवनंदन पटेल 85 वोट, वार्ड नम्बर-7 मकनपुर शफीकउद्दीन 1600 वोट, वार्ड नम्बर-8 अलादातपुर से ननका चमार, वार्ड नम्बर-9 सनगांव फुलवसिया धोबी, वार्ड नम्बर-10 कोराई से विनोद पासी, वार्ड नम्बर-11 असवार तारापुर से बब्लू कालिया, वार्ड नम्बर-12 जाफराबाद से रमाकांत गिहार, वार्ड नम्बर-13 गुनीर से आशीष कुमार सिंह उर्फ पिंटू सिंह 1800 वोट, वार्ड नम्बर-14 मौहार से कुद्दू सिंह उर्फ नरेन्द्र सिंह 308 वोट, वार्ड नम्बर-15 आशा अभयपुर से रेखा पत्नी राजू सिंह 1170 वोट, वार्ड नम्बर-16 देवमई से नीतू देवी पत्नी सुरेन्द्र सिंह यादव, वार्ड नम्बर-17 सुजावलपुर से रंजीत पटेल 102 वोट, वार्ड नम्बर-18 अकबरपुर नसीरपुर से जयंती वर्मा, वार्ड नम्बर-19 अमौली से उमा सोनकर, वार्ड नम्बर-20 चांदपुर से शिव विशाल जीते, वार्ड नम्बर-21 डिघरूवा से रामस्वरूप कोरी, वार्ड नम्बर-22 बाग बादशाही नसुरूद्दीन, वार्ड नम्बर- 23 सिजौली से इन्द्रजीत पाल, वार्ड नम्बर-24 मंडरांव रमेश पासवान, वार्ड नम्बर-25 महना से मेडि़या यादव, वार्ड नम्बर-26 अयाह से विमला पासवान, वार्ड नम्बर-27 शाह प्रेमा सिंह माता धीरेन्द्र सिंह, वार्ड नम्बर-29 साखा से विद्या देवी पत्नी भोला यादव, वार्ड नम्बर-30 ऐंझी से रेनू पाल पत्नी भोला पाल, वार्ड नम्बर-31 असोथर से सुखराज निषाद 487 वोट, वार्ड नम्बर-32 खेसहन से मैना देवी पत्नी तोता भाट, वार्ड नम्बर-33 रमुवा-पंथुवा से अवलेश पत्नी वीरेन्द्र सिंह यादव, वार्ड-34 रामपुर थरियांव से ओमप्रकाश 350 वोट, वार्ड नम्बर-35 सातों धरमपुर से डा. निवेदिता सिंह पत्नी अभय प्रताप उर्फ पप्पू सिंह, वार्ड नम्बर-36 टेनी से किरण पत्नी जगनायक सिंह यादव, वार्ड नम्बर-37 विजयीपुर से रामप्रसाद, वार्ड नम्बर-38 रायपुर भसरौल से नितिन यादव 450 वोट, वार्ड नम्बर-39 गढ़ा से अनसुइया देवी पत्नी नरसिंह पटेल, वार्ड नम्बर-40 कारीकान धाता से सतेन्द्र सिंह 2500 वोट, वार्ड नम्बर-41 डेंडासई से नरसिंह पटेल, वार्ड नम्बर-42 खैरई से सीता गिहार पत्नी ओमप्रकाश गिहार, वार्ड-43 हरदो से हनुमान सिंह, वार्ड नम्बर-44 बुदवन से लालता की पत्नी 1100 वोट, वार्ड नम्बर-45 मोहम्मदपुर गौंती से गिरजेश सिंह की पत्नी सर्वेशी देवी 3200 वोट, वार्ड नम्बर-46 ऐरायां से अनामिका पत्नी आदित्य प्रताप सिंह 8000 वोट पाकर विजयी रहीं।

नगण्य रहेगा ब्राम्हणों का प्रतिनिधित्व
जनपद के सर्वोच्च सदन में इस बार जिले में आबादी के लिहाज से दूसरे पायदान पर खड़े ब्राम्हण समाज का प्रतिनिधित्व नगण्य रहेगा। वैसे पूर्व में तत्कालीन चेयरमैन रानी देवी पासवान एवं रेखा सिंह चौहान के नेतृत्व वाले बोर्ड में भी इस बिरादरी का एक भी सदस्य नही था, किन्तु इस बार अप्रत्याशित ढंग से ब्राम्हण समाज का एक भी सदस्य जीतकर सदन नही पहुॅचा है। यह अपने आपमें हैरतअंग्रेज विषय है कि जिस समाज को समाज ने उच्च संवर्ग का तमगा हासिल है उसका प्रतिनिधित्व नगण्य है! मौजूदा बोर्ड में चार ब्राम्हण सदस्य बोर्ड की संचालन में अहम भूमिका का निर्वहन करते है, जिनमें उदित नारायण द्विवेदी, पूर्व विधायक आदित्य पाण्डेय की भाभी किरण द्विवेदी व किरण देवी शामिल है।

सिर्फ तीन सदस्यों ने ही हासिल की पुनः जीत
जिला पंचायत के मौजूदा बांेर्ड में 41 सदस्य है। इनमें ज्यादातर सदस्यों ने पुनः सदन में सीट हासिल करने के लिए नये परिसीमन के तहत परिवर्तित हुए अलग-अलग क्षेत्रों से प्रत्याशिता का दावा ठोंका और पूरी सिद्दत से चुनाव भी लड़े, किन्तु सिर्फ तीन सदस्य ही ऐसे है जिन्हे विजय श्री हासिल हुई है। जिला पंचायत के सदस्य के लिहाज से वरिष्ठ राजनीतिज्ञ नरसिंह पटेल इतिहास रचकर लगातार चौथी बार विजयी रहे, जबकि उनकी पत्नी अनसुइया देवी दूसरी बार जीतीं है। वहीं सत्तारूढ समाजवादी पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष वीरेन्द्र यादव की पत्नी अवलेश यादव भी दूसरी बार सदन की गरिमा बढ़ायेंगी।

यादव, क्षत्रिय एवं कुर्मी बिरादरी से जीते 7-7 प्रत्याशी
जिला पंचायत बोर्ड की जो तस्वीर परिणामों की घोषणा के बाद सामने आयी है उनमें 46 सदस्यीय सदन में यादव, क्षत्रिय व कुर्मी बिरादरी के 7-7 सदस्य विजयी रहे है। जबकि मुस्लिम, रैदास व पासवान बिरादरी से 3-3 सदस्य विजयी हुए है। पाल, कोरी, लोधी व गिहार समाज से 2-2, जबकि प्रजापति, साहू, सिंगरौर, धोबी, सोनकर व निषाद बिरादरी का 1-1 सदस्य सर्वोच्च सदन के कामकाज में हांथ बटाता दिखेगा।

पुनः 18 सीटों पर महिलाओं ने लहराया परचम
जिले की आबादी में लगभग पुरूषों के बराबर खड़ी महिलाओं ने सर्वोच्च सदन में फिर अपनी संख्या 18 की बरकरार रखी है। ज्ञातव्य रहे कि जिला पंचायत अध्यक्ष के आरक्षण में मुखिया की सीट में अनारक्षित महिला के लिए रिजर्व है। मौजूदा बोर्ड में भी 18 महिलायें 41 सदस्यीय बोर्ड में हैं। जबकि नवनिर्वाचित जिला पंचायत के आसन्न बोर्ड में सीटों के लिहाज से इनकी संख्या 18 तो जीतकर आयी है, किंन्तु बड़ी बात यह है कि इस बार सदन में 46 सदस्य होंगे।

यादव बिरादरी का बढ़ा कुनबा
जिला पंचायत में गिनती के लिहाज से जहां ब्राम्हण समाज को अप्रत्याशित पराजय का सामना करना पड़ा है। वहीं यादव समाज को पिछले चुनाव के मुकाबले इस बार 3 सीटों का फायदा हुआ है। इस बार 7 यादव जीतकर सर्वोच्च सदन की गरिमा बढ़ायेंगे। वहीं क्षत्रिय बिरादरी ने भी सदन में दखल बढ़ाते हुए 2 सीटों के फायदे में है। इस बिरादरी के भी 7 सदस्य जीतकर आये है। चुनौतीपूर्ण हालातों के बावजूद 46 सदस्यीय बोर्ड में कुर्मी समाज की सहभागिता नये परिसीमन के बाद सीटों की बढ़ी संख्या के लिहाज से कमतर रही है। पिछली बार इस समाज से 7 सदस्य थे और इस बार भी इतने ही विजयी हुए है। मुस्लिम समाज के पिछली बार 4 सदस्य थे जबकि इस बार तीन ही जीते है। इस वर्ग को 1 सीट का नुकसान हुआ है। बड़ी बात यह है कि जनपद में हजार की संख्या से कम के आंकड़े में गिने जाने वाले गिहार समाज से 2 सदस्य जिला पंचायत के सदस्य निर्वाचित हुए है। वरिष्ठ सपा नेता एवं लगभग डेढ दशक पूर्व इस बोर्ड के सदस्य रहे ओमप्रकाश गिहार की पत्नी सीता गिहार व जाफराबाद से रमाकांत गिहार विजयी हुए है।

Leave a Reply

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache