उत्तर कोरिया का बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण फेल, अमेरिका और दक्षिण कोरिया का दावा



दक्षिण कोरिया का बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण फेल, अमेरिका का दावा

वाशिंगटन:अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने उत्तर कोरिया द्वारा एक मिसाइल परीक्षण किये जाने की पुष्टि करते हुए कहा है कि प्रक्षेपण करीब करीब तत्काल ही असफल हो गया.यूएस पैसेफिक कमांड ने एक बयान में बताया ‘मिसाइल में करीब करीब तुरंत ही विस्फोट हो गया. मिसाइल किस प्रकार की थी, इसका आकलन किया जा रहा है.’
बयान के अनुसार, यूएस पैसेफिक कमांड ने अब तक जो आकलन किया है उसके अनुसार, उत्तर कोरिया ने 15 अप्रैल को अंतरराष्ट्रीय समयानुसार, 21 बज कर 21 मिनट पर मिसाइल प्रक्षेपित की. यूएस पैसेफिक कमांड के प्रवक्ता सीडीआर डेव बेनहैम ने बताया ‘बैलिस्टिक मिसाइल का प्रक्षेपण सिन्पो के करीब किया गया.’ बेनहैम ने कहा कि यूएस पैसेफिक कमांड सुरक्षा बनाए रखने के लिए कोरिया गणराज्य तथा जापान में अपने सहयोगियों के साथ करीब से काम करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है.

उत्तर कोरिया को तहस-नहस कर सकता है यह बैलिस्टिक मिसाइल, दक्षिण कोरिया ने किया परीक्षण

इस असफल परीक्षण के एक दिन पहले ही उत्तर कोरिया के संस्थापक किम इल सुंग के 105 वें जन्मदिन पर आयोजित एक विशाल सैन्य परेड में प्योंगयांग ने करीब 60 मिसाइलों का प्रदर्शन किया था. समझा जाता है कि इन करीब 60 मिसाइलों में एक नयी अंतरद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल भी थी.

इस बीच, अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने कहा है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनका सैन्य दल इस मिसाइल प्रक्षेपण से अवगत हैं.मैटिस ने कहा ‘राष्ट्रपति और उनका सैन्य दल उत्तर कोरिया के नवीनतम असफल मिसाइल प्रक्षेपण के बारे में जानते हैं. राष्ट्रपति ने कोई टिप्पणी नहीं की है.’

दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने भी किया दावा

दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने दावा किया है कि उत्तर कोरिया का नया मिसाइल परीक्षण असफल रहा.मंत्रालय ने आज एक बयान में बताया ‘‘उत्तर कोरिया ने आज सुबह साउथ हैमक्योंग प्रांत में सिन्पो इलाके से एक अज्ञात प्रकार की मिसाइल के परीक्षण का प्रयास किया लेकिन हमें आशंका है कि परीक्षण असफल रहा.’’ साथ ही मंत्रालय ने कहा कि वह विस्तृत ब्यौरे के लिए परीक्षण का विश्लेषण कर रहा है.

चीन की चेतावनी- उत्तर कोरिया को लेकर किसी भी वक़्त छिड़ सकती है जंग, नहीं होगा किसी का भला

इस असफल परीक्षण के एक दिन पहले ही उत्तर कोरिया के संस्थापक किम इल सुंग के 105 वें जन्मदिन पर आयोजित एक विशाल सैन्य परेड में प्योंगयांग ने करीब 60 मिसाइलों की एक झलक दिखाई थी. समझा जाता है कि इन करीब 60 मिसाइलों में एक नयी अंतरद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल भी थी.

हालिया सप्ताहों में प्योंगयांग की अनियंत्रित परमाणु महत्वाकांक्षा को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उनके खिलाफ कड़ा रूख रखने का संकल्प जाहिर किया और चीन की ओर से उसके पड़ोसी देश का परमाणु कार्यक्रम रोकने में मदद न मिलने की स्थिति में एकतरफा कार्रवाई करने की धमकी भी दी.

क्षेत्र में वैमनस्य बढ़ने के बीच, ट्रंप ने अपने रूख पर दृढ़ता दिखाते हुए एक विमान वाहक की अगुवाई में मारक समूह को कोरियाई प्रयद्वीप भेज दिया. इस बीच उत्तर कोरिया ने कई रॉकेट प्रक्षेपित कर डाले.

उत्तर कोरिया ने कहा- क्षेत्र में तनाव के लिए ट्रंप दोषी, अमेरिकी हमला हुआ तो चुप नहीं बैठेंगे

अब तक प्योंगयांग ने पांच परमाणु परीक्षण किए हैं. इनमें से दो परीक्षण पिछले साल किए गए थे. उपग्रह से मिले चित्र के विश्लेषण से संकेत मिलता है कि वह छठे परीक्षण की तैयारी कर रहा है. खुफिया अधिकारियों ने आगाह किया है कि उत्तर कोरिया दो साल से भी कम समय में अमेरिका को निशाना बनाने की क्षमता हासिल कर सकता है.

Leave a Reply

TEVAR TIMES is Stephen Fry proof thanks to caching by WP Super Cache