बदले माहौल की चिन्ता

बदले माहौल की चिन्ता

डा. दिलीप अग्निहोत्री डा. अम्बेडकर परिनिर्वाण दिवस का मायावती ने भरपूर फायदा उठाया। इस अवसर पर लखनऊ में आयोजित जनसभा को उन्होंने चुनावी रंग में बदल दिया। अपने को अंबेडकर का प्रमुख अनुयायी बताया। इसी के साथ अन्य सभी पार्टियों व नेताओं को अंबेडकर का विरोधी साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। ये बात अलग है कि इनमें वे पार्टियॉ शामिल थीं, जिनका किसी न किसी रूप में बसपा से समझौता हुआ था। इन…

Read More...