नोटबंदी: मियाद खत्म, करिश्मे की बारी

नोटबंदी: मियाद खत्म, करिश्मे की बारी

ऋतुपर्ण दवे कालाधन, राजनैतिक रसूख, डिजिटल लेन-देन और अपने ही सीमित पैसों के लिए कतार में छटपटाता 90 फीसदी बैंक खाताधारी आम भारतीय। शायद यही भारत की राजनीति का एक नया रंग है जो ’नोटबंदी’ के रूप में एकाएक, आठ नवंबर रात की आठ बजे अवतरित हुआ और सम्मोहन जैसा, चुटकी बजाते देशभर में छा गया। अमेरिका में ट्रंप की जीत से लोग जितना भौंचक हुए, उससे कहीं ज्यादा नोटबंदी और बाद की जनप्रतिक्रियाओं से…

Read More...

नक्सल प्रभावित इलाकों में जबर्दस्ती बुजुर्गों से 1,000 और 500 के बड़े नोट बदलवा रहे हैं नक्सली

नक्सल प्रभावित इलाकों में जबर्दस्ती बुजुर्गों से 1,000 और 500 के बड़े नोट बदलवा रहे हैं नक्सली

लातेहर। जांच से बचने के लिए झारखंड में नक्सली जबर्दस्ती बुजुर्गों से 1,000 और 500 के बड़े नोट पर बदलवा रहे हैं। झारखंड के नक्सल प्रभावित इलाकों में से एक लातेहर जिला, जहां नक्सलियों ने टैक्स और फिरौती के रूप में करोड़ों रुपये वसूले हैं। वो बुजुर्गों को अपने अकाउंट में 2.5 लाख रुपये जबर्दस्ती जमा करने को कह रहे हैं। लातेहर जिले के अधीक्षक अनुप बरथरे ने कहा, ‘‘यह सही है, हम लोगों को…

Read More...