लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी (BJP) की मेयर प्रत्याशी संयुक्ता भाटिया के चुनाव प्रचार में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत अन्य भाजपा के दिग्गजों के उतरने के मामले में आम आदमी पार्टी में खलबली मची है।

BJP propaganda baffles in your Mayor candidate
BJP propaganda baffles in your Mayor candidate

आप की मेयर प्रत्याशी प्रियंका माहेश्वरी ने कहा है कि आखिर भारतीय जनता पार्टी (BJP) को निकाय चुनाव में इन दिग्गजों को उतारने की क्या जरूरत पड़ गयी जबकि वो विकास कार्यों और भ्रष्टाचार खत्म करने के बड़े-बड़े दावे कर रहे हैं।

माहेश्वरी ने आईपीएन से बातचीत में कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) की मेयर प्रत्याशी संयुक्ता भाटिया के लिए सी.एम. योगी आदित्यनाथ छः सभाएं करेंगे। इसके साथ ही उप मुख्यमंत्री व पूर्व मेयर डा. दिनेश शर्मा मेयर प्रत्याशी के लिए ताबड़तोड़ सभाएं करेंगे।

यही नहीं देश के गृहमंत्री व लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह भी भाजपा मेयर प्रत्याशी के लिए राजधानी में समर्थन जुटायेंगे। इसके अलावा भाजपा के दिग्गज नेता निकाय चुनाव में लखनऊ मेयर प्रत्याशी के समर्थन में उतरे हुए हैं।

उन्होंने सवाल किया कि मेयर प्रत्याशियों की लाईव टी.वी. डिबेट से लेकर जनता के बीच तक भाजपा (BJP) की ओर से पार्टी प्रवक्ताओं को क्यों भेजा जा रहा है। क्या वो अपनी प्रत्याशी को इस लायक नहीं समझते या फिर उनमें पिछले 22 वर्षों में नगर निगम को भ्रष्टाचार का अड्डा बनाने के सवाल का कोई जवाब नहीं है।

माहेश्वरी कहा कि कारण चाहे जो भी हों, लेकिन जो प्रत्याशी चुनाव से पहले ही जनता के बीच जाने से बच रहा है अगर वो चुनाव जीता तो जनता की समस्याओं से क्या सरोकार रखेगा, इसका सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की राजनीति सिर्फ जाति और धर्म के नाम पर लोगों की भावनाएं से खेलने की रही है। उनका लोगों की समस्याओं और क्षेत्र के विकास से कभी कोई सरोकार नहीं रहा है।

उन्होंने कहा कि अगर भाजपा वाकई भ्रष्टाचार के मुद्दे पर जीरो टालरेंस का माद्दा रखती है तो लखनऊ नगर निगम में पिछले 22 वर्षों मे हुए भ्रष्टाचार, साढ़े आठ हजार करोड़ के टेंडर घोटाले, कूड़ा घोटाले सहित नगर निगम में हुए घोटालों में जनता के सामने खुली बहस करे।

मेयर प्रत्याशी का इस तरह से जनता के सवालों से भागना यह जाहिर करता है कि उसकी कथनी और करनी में फर्क है। वह जनता को धर्म के नाम पर सिर्फ भ्रमित करना जानती है और उसके पास विकास का कोई मुद्दा नहीं है। उन्होंने कहा कि मुझे खुशी है कि आम आदमी पार्टी के घोषणापत्र आने के बाद भाजपा सहित सभी पार्टियां सफाई और हाउस टैक्स को प्रमुख मुद्दा बना रही हैं।