नई दिल्ली। वित्त वर्ष 2017-18 की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में भारती एयरटेल के मुनाफे में 76.5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। कंपनी ने एक बयान में मंगलवार को यह जानकारी दी। बयान में कहा गया है कि कंपनी ने चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में कुल 343 करोड़ रुपये का मुनाफा दर्ज किया, जो वित्त वर्ष 2016-17 की समान तिमाही में 1,461 करोड़ रुपये था।

Geo Effect: Bharti Airtel's profit slips 76.5%
                        Geo Effect: Bharti Airtel’s profit slips 76.5%

भारती एयरटेल के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (गोपाल विट्टल) ने बताया, राजस्व में दोहरे अंकों की गिरावट के कारण उद्योग वित्तीय तनाव में है और आगे आईयूसी (इंटर-कनेक्शन यूजेज चार्ज) में कमी से आगे यह और बढ़ेगा।

इससे ऑपरेटरों के समेकन को बल मिलेगा, जैसा हमने हाल ही में देखा है। उन्होंने आगे कहा, एयरटेल इस प्रतिस्पर्धी माहौल में बेहतर ग्राहक अनुभव प्रदान करके तथा डेटा क्षमता में बढ़ोतरी के लिए रणनीतिक निवेश के माध्यम से राजस्व की बाजार हिस्सेदारी बढ़ाने के अपने लक्ष्य के प्रति बचनबद्ध है।

बयान में कहा गया है कि कंपनी का भारत से प्राप्त राजस्व दूसरी तिमाही में 16,728 करोड़ रुपये रहा है और इसमें साल-दर-साल आधार पर 13 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है, जिसमें मुख्य रूप से मोबाइल कारोबार में साल-दर-साल आधार पर 16.8 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।

इस दौरान कंपनी के मोबाइल ब्राडबैंड ग्राहकों की संख्या में 33.6 फीसदी का इजाफा हुआ और यह पिछले साल की समान तिमाही के 4.13 करोड़ से बढ़कर 5.52 करोड़ हो गई। कंपनी के अफ्रीका कारोबार के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी रघुनाथ मंडावा ने बताया, एयरटेल अफ्रीका के राजस्व में साल-दर-साल आधार पर 6.3 फीसदी की वृद्धि हुई है, जबकि डेटा ट्रैफिक में 83.8 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है।