लखनऊ। सूबे की राजधानी लखनऊ में इन दिनों वायु प्रदूषण के मामले को गर्माता देख लखनऊ मेट्रो रेल कारपोरेशन (LMRC) अपने सभी परियोजना निर्माण स्थलों के बाहर व अंदर साफ-सफाई की गुणवत्ता को और बेहतर बनाते हुए और विशेष मानकों को तैयार करके उस पर कार्य करना शुरू कर दिया है।

 LMRC increased the number of clean sweep workers to reduce air pollution in Lucknow

LMRC increased the number of clean sweep workers to reduce air pollution in Lucknow

प्रकरण की गंभीरता को देख एलएमआरसी ने लखनऊ वातारवरण का पूरा ध्यान रखते हुए अपने सभी चल रहे मेट्रो निर्माण क्षेत्रों में साफ सफाई को लेकर इसमें एक कदम और बढ़ाते हए सफाईकर्मियों की और भी बढ़ोत्तरी की है।

लखनऊ मेट्रो रेल कारपोरेशन लिमिटेड के वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी अमित कुमार श्रीवास्तव ने आईपीएन को बताया कि मेट्रो के कार्य जिन क्षेत्रों में चल रहे है।

उसके बाहर सड़कों पर रोजाना धूल, मिटृ, छोटे कंकड़ों की सफाई लगातार की जा रही है। और सभी बैरिकैड बोर्ड पर जमीं गंदगी को भी साफ किया जाता है।

इसके साथ ही पानी टैंकर के द्वारा सभी मेट्रो निर्माण क्षेत्रो के साथ जिसमे भूमिगत मेट्रो स्टेशन और मेट्रो कास्टिंगयार्ड व बाहरी सड़कों पर पानी का छिड़काव किया जा रहा है जिससे कि वहां पर जमीं धूल उड़ न सके और फिर इसको झाड़ू के माध्यम से पानी के द्वारा बहा कर सड़क को साफ कर दिया जाता है।

बताया कि मेट्रो जहां ये पहले भी रोजाना रात में अपने निर्माण के शुरूआती दौर से ही करता चला आ रहा था वहीं अब ये दिन में भी सफाई का कार्य कर रहा है। इसके साथ ही मेट्रो के जिन निर्माण स्थलों पर मिटृओं का अंबार लग जाता है उसको भी एक स्थान पर इकठ्ठा कर त्रिपाल से ढक दिया जाता है।

जिससे की मिट्टी उड़ कर वातावरण में मिल न सके और वहीं ट्रकों पर लदी मिट्टी को भी त्रिपालपन्नी से ढक कर मेट्रो निर्माण क्षेत्र तक ले जाया जाता है।