Devendra Fadnavis ने रक्षा मंत्री बनने की बातों को किया खारिज

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री Devendra Fadnavis ने आज उन संभावनाओं को खारिज कर दिया कि उन्हें केंद्रीय मंत्री नियुक्त किया जा सकता है और कहा कि वह राज्य में ही रहेंगे. फड़नवीस मुंबई में इंडिया टुडे कॉनक्लेव 2017 में बोल रहे थे.

उन्हें केंद्र में रक्षा मंत्री बनाये जाने की अटकलों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘अगर आपका संस्थान पहली बार दिल्ली से बाहर, मुंबई में राष्ट्रीय आयोजन कर सकता है तो मुझे दिल्ली जाने की जरूरत नहीं है. मैं यहीं रहने जा रहा हूं.’

इससे पहले केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने भी Fadnavis को केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल किये जाने की खबरों से इनकार किया

Fadnavis ने कहा मैं महाराष्ट्र में ही खुश हूं

गडकरी ने कहा था, ‘मीडिया कयास लगाता है और फिर विभिन्न चीजों को लिखने का लुत्फ उठाता है. हालांकि दिल्ली में इस पर कोई फैसला नहीं लिया गया.’ फड़नवीस ने कहा कि केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार के नियंत्रण में चीजें हैं और वो नौकरशाही को भी सही तरीके से संभाल रही है जिससे राज्य मशीनरी की दक्षता को बढ़ाया जा सके.

उन्होंने कहा, ‘उदाहरण के लिये, नवी मुंबई हवाईअड्डे का क्लीयरेंस दस सालों से लंबित था। सिर्फ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमें आठ विभिन्न विभागों की मंजूरी दिलवा दी.’ उन्होंने कहा, ‘अभी नौकरशाही में भी काफी सकारात्मकता है.’

राज्य सरकार को सहयोगी शिवसेना से खतरे की बात को खारिज करते हुए उन्होंने उसके मुखपत्र ‘सामना’ में आलोचनात्मक संपादकीय के बारे में पूछे जाने पर फड़नवीस ने कहा कि वो इन्हें नहीं पढ़ते.

शिवसेना के ‘विपक्षी दल’ की तरह काम करने के बारे में उन्होंने कहा, ‘मैं हमारे पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से प्रेरणा लेता हूं. अगर वो केंद्र में 22 क्षेत्रीय दलों वाली गठबंधन सरकार को सफलतापूर्वक चला सकते हैं, तो मैं आराम से महाराष्ट्र में एक सहयोगी को संभाल सकता हूं.’