ब्रह्मपुर। पिछले आम चुनावों से पहले ओड़िशा को विशेष राज्य का दर्जा देने का वादा करने के बावजूद उसे पूरा नहीं किये जाने को लेकर मुख्यमंत्री Naveen Patnaik ने आज केन्द्र से खासी नाराजगी जतायी है। बीजद युवा मोर्चा के सम्मेलन को संबोधित करते हुए पटनायक ने कहा, ‘पिछले चुनाव में भाजपा ने अपने घोषणापत्र में ओड़िशा को विशेष राज्य का दर्जा देने का वादा किया था। यह भाजपा का पहला एजेंडा था। लेकिन केन्द्र की सत्ता में आने के बाद वे इस पर नकारात्मक रूख अपना रहे हैं।’

गौरतलब है कि बीजद प्रमुख की ओर से यह बयान आने से पहले ही पार्टी पूरे राज्य में केन्द्रीय मंत्री वी.के. सिंह के बयान को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रही है। सिंह ने कहा था कि ओड़िशा को विशेष राज्य के दर्जा की आवश्यकता नहीं है क्योंकि उसे विकास के लिए केन्द्र से पर्याप्त धन मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने राष्ट्रपति पद के लिए राजग के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का समर्थन करने को सही ठहराते हुए कहा, ‘हम राष्ट्र हित में सभी कारकों को ध्यान में रखते हुए उन्हें अपना समर्थन दे रहे हैं।’ इस पर जोर देते हुए कि परिपक्व लोकतंत्र में राष्ट्रपति का चुनाव आम सहमति से होना चाहिए, पटनायक ने कहा, ‘इसलिए जब प्रधानमंत्री ने रामनाथ कोविंद का नाम सुझाया तो, हमने उसे अपना समर्थन दिया।’

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति का पद राजनीति से परे है, इसलिए बीजद इसे राजनीति से अलग रखना चाहती है। इस पर जोर देते हुए कि बीजद प्रतिबद्धता में विश्वास करता है, मुख्यमंत्री ने कहा, ‘पहले ही दिन हमने, मंत्रिपरिषद की बैठक में घोषणापत्र में शामिल सभी फैसलों को लागू करने का निर्णय लिया था।’