लाहौर। पाकिस्तान बड़े पैमाने पर परमाणु रिएक्टर बनाने की तैयारी कर रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक पड़ोसी देश पाकिस्तान ने 2030 तक 8,800 मेगावाट परमाणु ऊर्जा हासिल करने का लक्ष्य तय किया है। पाकिस्तान के परमाणु ऊर्जा आयोग के अध्यक्ष मोहम्मद नईम के हवाले से कहा गया है कि पाकिस्तान में फिलहाल पांच छोटे रिएक्टर हैं, जिनसे वह 1300 मेगावाट परमाणु ऊर्जा हासिल करता है।

Pakistan aims to install nuclear reactor, help China
                      Pakistan aims to install nuclear reactor, help China

पंजाब प्रांत में मौजूद 4 परमाणु रिएक्टरों में से आखिरी इसी साल सितंबर में शुरू हो पाया है। इसे स्थापित करने में चीन राष्ट्रीय परमाणु कॉर्प (सीएनएनसी) ने मदद की है। चीन की मदद से ही कराची बंदरगाह के नजदीक भी परमाणु दो रिएक्टर तैयार किए जा रहे हैं, यहां 1100 मेगावाट ऊर्जा पैदा करने की क्षमता हो सकती है।

पाकिस्तान के परमाणु ऊर्जा आयोग के अध्यक्ष ने दावा किया कि दो और परमाणु रिएक्टर क्रमश: 60 और 40 फीसदी तैयार हो चुके हैं, जो 2020 से 2021 तक शुरू हो जाएंगे। पाकिस्तान के आठवें परमाणु रिएक्टर के लिए अनुबंध के लिए बातचीत अंतिम चरण में हैं। इसकी क्षमता 1100 मेगावाट बिजली पैदा करने की क्षमता होगी।

मालूम हो कि पाकिस्तान में परमाणु रिएक्टरों को लेकर अमेरिका ऐतराज जता चुका है। अमेरिका और दूसरे एनएसजी देशों का कहना है कि पाकिस्तान को चश्मा एक और दो परमाणु रिएक्टरों को बनाने में मदद करने वाले चीन ने 2004 में एनएसजी का सदस्य बनते हुए यह नहीं बताया था कि वह आगे भी पाकिस्तान को ऐसी मदद देने वाला है जबकि नियम के मुताबिक ऐसा अनिवार्य है।