Titan launches 'Design:Impact awards for social change' with Tata Trusts
Titan launches ‘Design:Impact awards for social change’ with Tata Trusts

नई दिल्ली। भारत की सबसे बड़ी लाइफस्टाइल कंपनी टाइटन ने शुक्रवार को टाटा ट्रस्ट के साथ मिलकर ’डिजाइन: इंपैक्ट अवार्डस फॉर सोशल चेंज’ के लांच की घोषणा की। टाइटन का डिजाइन: इंपैक्ट अवॉर्ड प्रोजेक्ट आधारित अनुदान पुरस्कार है, जिसका मकसद कमजोर समुदायों को सकारात्मक ढंग से प्रभावित करना है। टाइटन के प्रबंध निदेशक भास्कर भट ने कहा, “पिछले 30 सालों में हमने भारतीयों के लिए मिसाल के योग्य डिजाइन तैयार करने पर जोर दिया है। हमारे पार्टनर टाटा ट्रस्ट ने सन 1900 से ही भारत में आमूलचूल परिवर्तन को गति दी और आविष्कारों के जरिए स्थायी विकास पर ध्यान दिया। अब इस अवॉर्ड के जरिए हमारा मकसद प्रोडक्ट डिजाइन को मान्यता देना और सामाजिक परिवर्तन लाना है।”

सर दोराबजी टाटा ट्रस्ट के ट्रस्टी वी.आर. मेहता ने कहा, “टाइटन डिजाइन इंपैक्ट अवॉर्डस के साथ हमारी भागीदारी टाटा ट्रस्ट की इस प्रतिबद्धता का नतीजा है कि टेक्नोलॉजी और आविष्कारों से समाज में भारी परिवर्तन लाया जा सकता है। इस पहल के तहत फाउंडेशन फॉर इन्नोवेशन एंड सोशल एंटरप्रेन्योरशिप, टाटा ट्रस्ट और टाइटन मिलकर ऐसे उद्यमियों की पहचान करेंगे, जिनका मुख्य ध्यान सामाजिक समस्याओं के समाधान पर केंद्रित विकास पर है और पूरे प्रोडक्ट की लाइफसाइकिल से जुड़े रहकर सामाजिक परिवर्तन लाना चाहते हैं।“
इन अवॉर्डस और अनुदान के लिए प्रोडक्ट डिजाइन इन्नोवेटर और टीमें अपने प्रोटोटाइप और प्रमाणित उत्पादों के साथ आवेदन कर सकते हैं। योग्य प्रविष्टियां वही होंगी, जिनमें श्रेष्ठ डिजाइन के प्रोडक्ट के माध्यम से सामाजिक समस्याओं के समाधान का ध्येय हो। अंतिम रूप से चुने गए आविष्कारकों को 65 लाख रुपये तक की वित्तीय सहायता के साथ प्रोत्साहन समर्थन, मान्यता और संरक्षण दिया जाएगा।

टाइटन के डिजाइन:

इंपैक्ट अवॉर्ड की ग्रैंड ज्यूरी में भारत के प्रबुद्ध वैज्ञानिकों में से एक और भारतीय विज्ञान एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद के पूर्व महानिदेशक डॉ. आर. माशेलकर, विश्वविख्यात ग्रासरूट इन्नोवेशन स्कॉलर एवं हनी बी नेटवर्क के संस्थापक प्रो. अनिल गुप्ता, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मद्रास में इलैक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग में कार्यरत तथा उद्योग एवं अध्येता जगत के बीच रिश्ता कायम करने के लिए विख्यात प्रो अशोक झुनझुनवाला, पद्मश्री वी.आर. मेहता, ट्रस्टी, सर दोराबजी टाटा ट्रस्ट, हरीश भट, ब्रांड कस्टोडियन टाटा संस और जाने माने सोशल इन्नोवेटर एवं अगस्त्य इंटरनेशलन फाउंडेशन के संस्थापक एवं अध्यक्ष रामजी राघवन शामिल हैं।