सामाजिक मुद्दों पर अपनी बात मजबूती से रखने वाली बॉलिवुड ऐक्ट्रेस ( Vidya Balan) का मानना है कि समाज में महिलाओं को बराबर मौके और अधिकार नहीं मिलते हैं।

Vidya Balan
                 Vidya Balan

हाल में एक इवेंट में जब विद्या बालन से बॉलिवुड में फीमेल ऐक्ट्रेस को मिलने वाले बराबरी के मौके, कंगना रनौत के परिवारवाद कॉमेंट जैसे मुद्दे पर उनकी राय मांगी गई। इन मुद्दों पर जवाब देते हुए विद्या ने कहा, एक ऐक्ट्रेस के तौर पर ऐसा माना जाता है कि डिजायरेबल वुमन जैसी दिखाई दें और डिजायरेबल वुमन बुद्धिमान नहीं होतीं और वे स्पष्टवादी और प्रोग्रेसिव होती हैं।

लोग यह देखना ही नहीं चाहते कि किसी मुद्दे पर महिलाओं की कोई ओपिनियन हो, वे बुद्धिमान हों क्योंकि इससे पुरुष समाज को खतरा महसूस होने लगता है। विद्या ने आगे कहा, महिलाओं की इस मुद्दे पर सहनशीलता खत्म हो चुकी है और उनमें भारी नाराजगी है।

हम ऐंग्री गॉडेस हैं और अब हमें जवाब चाहिए। हम आगे बढऩा चाहते हैं और दुनिया को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए और इंतजार नहीं कर सकते। गौरतलब है कि विद्या बालन आजकल अपनी अगली फिल्म तुम्हारी सुलु के प्रमोशन में बिजी हैं। इस फिल्म में वह एक रेडियो जॉकी की भूमिका निभा रही हैं।